मोदी@68: मानो या न मानो, पर मोदी है तो मुमकिन है!

Title in English: 
prime minister narendra modi birthday special 2019
Blog Description: 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने सौ दिन का समय पूरा कर लिया है. और जैसी उम्मीद थी. सिर्फ सौ दिनों में पीएम मोदी ने कुछ और रिकॉर्ड्स अपने नाम कर लिए हैं. वैसे ये जिक्र इसलिए नहीं कि सरकार सौ दिन पूरे कर चुकी है. जिक्र का कारण ये कि पीएम 17 सितंबर को 68 साल के हो रहे हैं. भारतीय राजनीति के परिपेक्ष्य में देखें तो दो कम सत्तर साल वाले पीएम युवा राजनीति की परिभाषा को लांघ चुके हैं. जिस देश में युवाओं को गाइडिंग फोर्स माना जाता है वहां पीएम सत्तर साल के नजदीक हैं. पर इसे ये कहें कि युवा राजनेता की जगह एक मंझे हुए परिपक्व राजनेता के हाथ में देश की कमान है तो कुछ गलत नहीं होगा. वैसे भी मोदीजी जिस तरह रोज एक नया रिकॉर्ड बना रहे हैं उसे देखकर ये कहा ही नहीं जा सकता कि वो थक गए हैं. बल्कि हर दिन और साल के साथ एक नया कीर्तिमान बनाने की ख्वाहिश तेज हो चुकी है.

यही ऊर्जा तो है जो दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति यानि कि अमेरिका को भारत को तवज्जो देने पर मजबूर कर रही है. कामयाबी की इस टोपी पर नया पंख सजने वाला है हाउडी मोदी का. ह्यूटन में होने वाला इस सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप भी शिरकत करेंगे. खास बात ये है कि भारतीय समुदाय का ये पहला ऐसा कार्यक्रम है जिसमें भारतीय पीएम और यूएस के राष्ट्रपति एक साथ नजर आएंगे.

अब तक के कार्यकाल में पीएम मोदी ने कई उपलब्धियां हासिल कीं. इस दौरान कुछ काम ऐसे भी हुए जो पहली बार होते देखे गए. ये पीएम मोदी के ऐसे कदम हैं जिनकी सफलता-विफलता तो बहस का मुद्दा है लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि इन्हें उठाकर पीएम मोदी ने अपनी छवि ऐसे नेता की बना ली है जो बड़े से बड़ा फैसला लेने में हिचकता नहीं है.

धारा 370 हटाना

बरसों से धारा 370 के साएं में जी रहे कश्मीर और वहां के बाशिंदों को इससे आजादी दिलाई तो सिर्फ पीएम मोदी और उनकी सरकार ने. विवाद भी हुए तो तारीफें भी मिली. कदम अच्छा है या बुरा इसका फैसला तो आने वाले कुछ सालों में होगा. पर मोदी ने ये साफ कर दिया कि मोदी हैं तो मुमकिन है अखंड भारत की बात. 

तीन तलाक पर बड़ा फैसला

तीन तलाक सही या गलत. ये बहस भी मोदी की नुमाइंदगी में ही शुरू हुई. कई महीनो तक बहस हुई. और नतीजे क्या रहे ये सब जानते हैं. मोदी की अगुवाई में मुस्लिम महिलाओं की जीत हुई.

एयर स्ट्राइक

सर्जिकल स्ट्राइक का कारनामा तो पीएम मोदी काफी पहले कर चुके थे. पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद देश का गुस्सा मोदी के फैसले के साथ आकाश से बरसा. पाकिस्तान के बालाकोट पर एयर स्ट्राइक हुई. और देश को जीत का अहसास हुआ. 

नोटबंदी

नरेंद्र मोदी के अब तक के शासनकाल का सबसे ऐतिहासिक फैसला नोटबंदी का रहा. खुद पीएम मोदी ने 8 नवंबर 2016 की रात राष्ट्र के नाम संबोधन में ऐलान किया. 500 और 1000 के नोट एक झटके में बंद कर दिए गए. ये बात अलग है कि कालाधान वापस लाने की मुहिम पर इसका कोई खास असर नहीं पड़ा. लेकिन देश की अवाम को सरकार की इच्छाशक्ति का अहसास हो ही गया. 

इजराइल जाने वाले पहले PM

प्रधानमंत्री मोदी का हर विदेशी दौरा चर्चा में रहा, लेकिन कई देशों में उनके दौरे ने कीर्तिमान भी बनाया. इजराइल की यात्रा करने वाले मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री बने. पूरी दुनिया को चौंकाते हुए पीएम मोदी इजराइल पहुंचे और दोनों देशों की दोस्ती को नई ऊंचाई दी.

फिलीस्तीन भी गए प्रधानमंत्री मोदी

नरेंद्र मोदी से पहले भारत के शीर्ष नेता इजराइल और फिलीस्तीन की यात्रा पर जाने से बचते रहे हैं, लेकिन उन्होंने इस हिचक को तोड़ दिया. इजराइल दौरे के कुछ दिन बाद पीएम ने फिलिस्तीन की यात्रा भी की.  पिछले साल वह इजराइल गए और इस साल की शुरुआत में उन्होंने फिलिस्तीन की यात्रा की. मोदी ने इन दोनों देशों की अलग-अलग यात्रा कर कूटनीतिक स्तर पर रिश्तों को नई गर्मजोशी दी.

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस

योग को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने का श्रेय भी पीएम मोदी को ही जाता है. उन्हीं के प्रयासों के चलते 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की शुरूआत हुई.