15 हजार किलो सोने से बना यह मंदिर सहज ही सैलानियों को आकर्षित करता है

15 हजार किलो सोने से बना यह मंदिर सहज ही सैलानियों को आकर्षित करता है

लाइव इंडिया न्यूज- आप ने मंदिर तो बहुत देखें होंगे लेकिन सोने से बने इस मंदिर की खूबसूरती ही अलग है. महालक्ष्मी जी का यह मंदिर तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में है और इसे सोने की नगरी भी कहा जाता है क्योंकि इसे बनाने में करीब 15 हजार किलो सोने का इस्तेमाल हुआ है.

महालक्ष्मी माता का यह मंदिर लगभग 300 करोड़ में बना है. 100 एकड़ में फैले इस मंदिर के चारों तरफ हरियाली है और इसके बाहर एक सरोवर है जहां दुनिया की मुख्य नदियों का पानी आता है जिस वजह से इसे तीर्थम सरोवर भी कहा जाता है.

रात के समय यह मंदिर एक दम स्वर्ग जैसा लगता है और अपनी इसी भव्यता के कारण यह दुनिया भर में मशहूर है. इस मंदिर का निर्माण 2007 में हुआ था और तब से लेकर अब तक इस मंदिर की लोकप्रियता बढ़ती ही जा रही है. रोजाना लगभग लाखों श्रद्धालु यहां आकर दर्शन करते हैं.

इस मंदिर की दीवारों से लेकर दरवाजों तक सभी सोने के बने हैं और मंदिर के द्वार पर खड़ी एक अप्सरा आने वाले लोगों का स्वागत करती है जो ऊपर से लेकर नीचे तक सोने के गहनों से सजी होती है। ऐसे में जब भी कभी तमिलनाडु जाएं तो इस मंदिर में जरूर जाएं.

Related Story

दिसंबर में यहां वादियों के साथ ट्रेकिंग का भी लें मजा 
सर्दियों के दिनों की शुरूआत हो चुकी है, ऐसे में हर कोई विंटर वेकेशन प्लान करता है.
बहुत ही दुर्गम तीर्थस्थल है गंगासागर 
आज हम आपको एक ऐसे स्थान के बारे में बताने जा रहे हैं...
शाही अंदाज में करना है शादी तो चुनें ये डेस्टीनेशन 
शादियों का सीजन शुरू हो गया है. ऐसे में आप भी कोई परफेक्ट वेंडिंग डेस्टीनेशन तलाश कर रहें हैं.
Winter vacation के लिए परफेक्ट हैं ये डेस्टिनेशन्स
भारत में वैसे तो कई खूबसूरत जगहें हैं, लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसी जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं.
देखें,  Pink City जयपुर की खूबसूरती
राजस्थान का नाम सुनते ही, 'आओ पधारो म्हारे देश' जैसी लाइनें जरूर याद आती हैं.
देखें, साल के अंत में होने वाले कई राज्यों के पारंपरिक उत्सव
आप सभी जानते हैं कि इस साल का अंत होने वाला है.
गोवा घूमने जा रहे हैं तो जरूर देखें ये जगहें
गोवा जाने का सबसे बेहतरीन समय अक्टूबर से मार्च तक का होता है.
Pushkar Mela: राजस्थानी रंग में रंगे विदेशी सैलानी 
इन दिनों राजस्थान में अंतरराष्ट्रीय पुष्कर चल रहा है