liveindia.news

पीएम नरेंद्र मोदी के साथ वाय एस आर रेड्डी, केंद्र सरकार में मिलेगा बड़ा मौका

आंध्र प्रदेश डेस्क : आंध्रप्रदेश से बीजेपी के लिए अच्छी खबर आती दिखाई दे रही है. अब दक्षिण के राज्यो में बीजेपी की पकड़ मजबूत हो सकती है. सूत्रों की माने तो आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी की अगुवाई वाली वाई एस आऱ कांग्रेस अब एन डी ए का हाथ थाम सकती है. अगर ऐसा होता है तो बीजेपी का शिवसेना की और से मिले झटके बाद दक्षिण भारत के राज्यो में वापसी का मौका भी मिलेगा.

खबरों के मुताबिक पिछले पंद्रह दिनो में मुख्यमंत्री रेड्डी दूसरी बार दिल्ली दौरे पर इस बार को प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे.  पार्टी के वरिष्ठ नेता के मुताबिक - “एनडीए का हाथ मजबूत करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी संभवत: वाईएसआर कांग्रेस को शामिल होने का न्यौता दे सकते हैं".

पिछले दो हफ्ते के दौरान आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री का यह दूसरा दिल्ली दौरा है. इससे पहले 22 सितंबर को वो दिल्ली दौरे पर गए. जहा मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी  ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुताकात की. जहां राज्य से जुड़े कई सारे मसलों के साथ-साथ वाई एस आर कांग्रेस की एन डी ए में ज्वाइनिंग को लेकर भी बात हुई.चुनाव सर्वे का काम देखने वाली कंपनी वीडीपी एसोसिएट्स ने सोमवार को ट्वीट करते हुए कहा- “खबरों के मुताबिक बीजेपी ने 2 कैबिनेट और 1 राज्य मंत्रालय (स्वतंत्र प्रभार) का पद वाईएसआर कांग्रेस को ऑफर किया है. जगन को पीएम मोदी से अलग से बातचीत के लिए दिल्ली बुलाया गया है”.

2019 में भी लोकसभा चुनाव के समय से जगन रेड्डी और उनकी पार्टी के रिश्ते प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी का साथ बेहतर रहे हैं, और 2019 की लोकसभा में 22 सासंदो की मौजूदगी के साथ वाई एस आर कांग्रेस लोकसभा की चौथी बडी पार्टी है .ऐसे में अगर वो एन डी के साथ गढबंधन करती है, तो उनकी पार्टी को दिल्ली दरबार में अपनी जगह बनाने को मौका मिलेगा साथ ही एन डी ए को दक्षिण भारत के क्षेत्रीय दलो के बीच अपनी राजनीति को बढ़ाने को मौका भी मिलेगा.


Leave Comments