liveindia.news

बिहार विधानसभा चुनाव होंगे रद्द, नीतीश बने रहेंगे मुख्यमंत्री?

बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले है. चुनाव से पहले राज्य का सियासी पारा चढ़ने लगा है. राजनैतिक दलों ने चुनाव प्रचार की तैयारियां शुरू कर दी है. इसी कड़ी में बिहार के छात्रों ने चुनाव आयोग से एक अनोखी मांग कर दी है. सोमवार को बिहार की राजधानी पटना में बिहार चुनाव आयोग के बाहर कुछ छात्रों ने जोरदार प्रदर्शन किया. छात्रों ने चुनाव आयोग से कोरोना महामारी को देखते हुए बिहार विधानसभा चुनाव नहीं करवाए जाने की मांग की है और अगले पांच साल तक वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ही मुख्यमंत्री नियुक्ति किए जाने की मांग की है.

छात्रों ने चुनाव आयोग से कहा है कि कोरोना महामारी को देखते हुए जिस तरह से 10वी और 12वीं की परीक्षाएं रद्द की है और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर परिणाम दिए है, ठीक उसी तरह चुनाव आयोग को राज्य के हित में ध्यान रखते हुए होने वाले विधानसभा चुनावों को रद्द कर देना चाहिए और पिछले कार्यकाल के कार्यो को देखते हुए सीएम नीतीश कुमार को अगले पांच सात तक के लिए मुख्यमंत्री नियुक्त करना चाहिए.

बता दें बिहार में कोरोना का प्रकोप तेजी से बढ़ता ही जा रहा है. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने CBSE और ICSE के 10th और 12th की परीक्षओं को रद्द कर पिछले आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर प्रमोट कर दिया जाने का फैसला किया है. इसे पहले कहा गया था की परिक्षाएं बाद में ली जाएंगी. साथ ही यह भी बता दें की बिहार में अबतक कोरोना के 9212 मामले सामने आ चुके है, जबकि 60 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकी 7118 लोग ठीक होकर अपने घर जा चुके है.


Leave Comments