liveindia.news

दो मई तक Mamta दीदी का ठीक हो जाए पांव

अमित शाह की प्रार्थना दो मई तक दीदी को ठीक करना! देश के गृहमंत्री अमित शाह चाहते हैं कि ममता दीदी का पैर दो मई तक ठीक हो जाए. दरअसल क्या वजह है कि अचानक अमित शाह ममता बनर्जी के पैर को लेकर इतने चिंतित हैं. वहीं अमित शाह जिनकी पार्टी के नेता ममता दीदी की चोट पर तंज कसते नहीं थकते थे. वही पार्टी जिनके नेताओं ने दीदी को बरमुडा पहनने की सलाह तक दे डाली है. वही पार्टी के नेता अब चाहते हैं कि ममता दीदी का पैर दो मई तक ठीक हो जाए.

दरअसल ये दो मई के दिन बंगाल की राजनीति के साथ-साथ बीजेपी के लिए भी बड़ा महत्तवपूर्व होगा. क्योंकि दो मई के नतीजों से पता चलेगा कि बंगाल में खेला हुआ कि परिवर्तन. अगर परिवर्तन होता है तो कहीं न कहीं ये देश की राजनीति में बड़ा निर्णायक होगा, क्योंकि पहले कभी वामपंथियों के गढ़ को ममता ने अपने बल बूते पर ढहाया तो वामपंथी अब लगभग राजनैतिक हाशिये पर ही हैं. वहीं अब ममता की सत्ता को कोई नहीं खत्म कर पा रहा. अमित शाह ने अपने सबसे विश्वसनीय.

चेहरे कैलाश विजयवर्गीय को 2014 से बंगाल की जिम्मेदारी दी है. कैलाश विजयवर्गीय वहां लगातार डटे हुए हैं. इस बार के चुनावों में उम्मीद है कि बीजेपी बंगाल में राज पाठ न पा सके, लेकिन कम से कम पहले या दूसरे पायदान पर जरूर होगी. क्योंकि कहीं न कहीं बीजेपी की मेहनत रंग लाती दिख रही है. उस मेहनत पर टीएमसी के बागियों की बागवत का रंग भी चढ़ा है और बंगाल की जनता के परिवर्तन के सपनों का रंग भी. बीजेपी ने इससे पहले बंगाल चुनाव पर नारा दिया था. ‘2 मई दीदी गई.’ बंगाल में बीजेपी जीत का दावा कर रही है.

बीजेपी को उम्मीद है कि वो बहुमत के पास होंगी, वैसे भी तो बंगाल में तीन दौर की वोंटिग बाकी है, लेकिन वोंटिग के हर दौर के साथ बीजेपी अपनी मजबूती और दावा बड़ा करती जा रही है. बीजेपी के लगातार और दमदार दावों के बीच कहीं न कहीं ममता दीदी विचलित भी हो रही हैं, क्योकि तीन दौर की वोंटिग अभी बाकी है और अमित शाह के बायन दीदी को किसी शूल से कम नहीं लग रहे. पहले बीजेपी ने नारा दिया कि 2 मई दीदी गई और अब सभाओं में उनका कहना है कि 2 मई तक दीदी का पैर ठीक हो जाए. और दीदी के पैर की इतनी चिंता के पीछे अमित शाह का तर्क है कि वो चाहते हैं दीदी 2 मई को अपने पैरों पर चलकर इस्तीफा देने जाएं.

दीप्ति चौरसिया

डिप्टी एडिटर, न्यूज नेशन


Leave Comments