liveindia.news

मशहूर गोल्डन बाबा का इलाज के दौरान निधन

भारत में गोल्डन बाबा के नाम से मशहूर सुधीर कुमार मक्कड़ उर्फ गोल्डन बाबा का इलाज के दौरान निधन हो गया है. वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे. उनका एम्स में इलाज किया जा रहा था, लेकिन मंगलवार की देर रात उनका निधन हो गया. गोल्डन बाबा के खिलाफ कई अपराधिक मामले दर्ज थे. गोल्डन बाबा हरिद्वार के कई अखाड़ों से तालुक रखते थे. वह दिल्ली से लगे गाजियाबाद के रहने वाले थे. दिल्ली के गांधी नगर के अशोक गली में गोल्डन बाबा का आश्रम बना हुआ है.

दिल्ली का पुराना बदमाश था गोल्डन बाबा

गोल्डन बाबा का असली नाम सुधीर कुमार मक्कड़ था. लेकिन गोल्डन बाबा को सोना पहनना पसंद था इसलिए उन्हें गोल्डन बाबा के नाम से पुकारा जाता था. गोल्डन बाबा सोना को अपना देवता मामते थे. वह कई किलो सोने से लदे रहते थे. बाबा हमेशा अपने गले में सोने का लाॅकेट, दसों उंगलियों में सोने की अंगूठी रहती थी. बाबा की सुरक्षा के लिए उनके साथ हर समय करीब 30 गार्ड तैनात रहते थे. सन्यासी बनने से पहले बाबा दिल्ली के पुराने हिस्ट्रीशीटर रह चुके है. बाबा के खिलाफ कई बड़े अपराधिक मामले दर्ज है. गोल्डन बाबा के खिलाफ अपहरण, फिरौती, मारपीट, जान से मारने की धमकी जैसे बड़े मामले दर्ज है. 

क्यो बने सन्यासी?

गोल्डन बाबा गाजियाबाद का रहने वाला था. सन्यासी बनने से पहले बाबा दिल्ली में गारमेंट्स का व्यापार करता था. लेकिन अपने पापों का प्रायशिचत करने के लिए वह सन्यासी हो गया और दिल्ली के गांधी नगर स्थित अशोक गली में अपना आश्रम खोल लिया. गोल्डन बाबा के अनेकों भक्त थे. यहां तक की कई राजनैतिक नेता भी बाबा के आश्रम में अपनी हाजिरी देने आते थे. बाबा दिल्ली ही नही पूरे देश में मशहूर था.


Leave Comments