liveindia.news

दिल्ली के श्मशान घाट फूल, अब कहां जलेंगी लाशें

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना ने अपनी अब रफ्तार तेजी से पकड़ ली है. राजधानी में मौत के आंकड़े भी लगातार बढ़ने लगे है, जिसके चलते अब लाशों का अंतिम संस्कार करने की किल्लत होेने लगी है. दिल्ली के निगमबोध घाट पर कोरोना काल में अंतिम संस्कार करने में दिक्कते आने लगी है. श्मशान घाट पर लाशों की लाइने लगने लगी है. 

आज तक की खबर के अनुसार बीते 15 दिनों से प्रतिदिन 40 से 50 शवों का अंतिम संस्कार निगमबोध घाट पर किया जा रहा है. निगमबोध घाट पर काम करने वाले लोग लाशों का अंतिम संस्कार करते करते थक चुके है. श्मशान घाट पर काम करने वालों का कहना है कि कोरोना से मरने वालों की संख्या प्रतिदिन बढ़ने लगी है. जिससे डेड बाॅडी ज्यादा आने लगी है. इसलिए सरकार ने 4 और श्मशान घाट बनाना शुरू कर दिया है.

दिल्ली में कोरोना महामारी से मौत का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. आलम यह है की अब श्मशान में अंतिम संस्कार करने के लिए जगह कम पड़ने लगी है. निगमबोध घाट पर अंतिम संस्कार करने के लिए 100 प्लेटफॉर्म हैं, जिनमें से 48 प्लेटफार्म पर कोरोना से मरने वालों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है. जिसके चलते जगह पूरी तरह से भरी हुई और एंबुलेंस एक के बाद एक लाशों को श्मशान घाट तक ला रही है.


Leave Comments