liveindia.news

जानिए, क्यों Kejriwal ने जोड़े मोदी के सामने हाथ

देशभर में तेजी से फैल रही कोरोना महामारी को रोकने के लिए आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों की एक बैठक बुलाई थी. ऑनलाइन बुलाई गई इस बैठक में कोरोना के संक्रमण और ऑक्सीजन की किल्लत को लेकर चर्चा की गई. बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी मौजूद रहे. अरविंद केजरीवाल ने बैठक में देश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी की ओर ध्यान आकर्षित करने की बात कही. उन्होंने ऑक्सीजन प्लांट्स को सेना के हवाले करने की बात भी कहीं उन्होंने पीएम मोदी से आगे कहा की अगर कोई आक्सीजन टैंकर को रोके तो मैं किससे बात करू लेकिन मुख्यमंत्री केजरीवाल को पीएम मोदी के सामने हाथ जोड़ने पड़े साथ ही उन्हें माफी मांगनी पड़ी.

दरअसल, सीएम केजरीवाल के कार्यालय की ओर से बैठक के दौरान सीएम का भाषण मीडिया में प्रसारित कर दिया गया था. इसी को लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से बाद में खेद जताया गया. कार्यालय की ओर से कहा गया है कि केंद्र सरकार की ओर से ऐसा कोई आदेश नहीं आया था कि सीएम का भाषण का सीधा प्रसारण नहीं हो सकता, लेकिन इसके बावजूद अगर कोई असुविधा हुई हो तो उसके लिए खेद है.

सूत्रों का कहना है कि पीएमओ ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा है कि बैठक में कई राज्यों ने बताया की क्या कदम उठाए जा रहे हैं. जिससे हालातों पर काबू पाया जा सके, लेकिन अरविंद केजरीवाल ने ऐसी कोई बात नहीं की. वो क्या कदम उठा रहे हैं. केजरीवाल ने पीएम और मुख्यमंत्रियों की आपसी बैठक कर टीवी पर सीधा प्रसारण करा दिया. जिसमें समाधान की कोई बात नहीं थी, बल्कि राजनीति करने वाली बातें कही थीं.


Leave Comments