liveindia.news

इस मंदिर में क्यों धसा है बजरंग बली का पैर, जानिए

भारत में ऐसे कई हनुमान मंदिर हैं, जिनके इतिहास काफी रोचक हैं. इन्हीं मंदिरों में से एक हनुमान मंदिर है. जिसका इतिहास काफी रोचक है, लेकिन मंदिर में विराजित हनुमान जी की प्रतिमा का रहस्य आज तक कोई नहीं जान सका. बजरंग बली का ये मंदिर उत्तरप्रदेश के सुल्तानपुर जिले की कादीपुर तहसील में स्थित है. इस मंदिर को बिजेथुआ महावीरन धाम के नाम से जाना जाता है. इस मंदिर की खास बात ये है कि मंदिर में विराजित बजरंग बली का एक पैर जमीन के अंदर धसा हुआ है. जिसके चलते हनुमान जी की मूर्ति थोड़ी टेढ़ी दिखाई देती है.

मंदिर के पुजारी का कहना है कि एक बार हनुमान जी की मूर्ति को सीधा करने का प्रयास किया गया था, लेकिन काफी कोशिश के बाद पता चला की मूर्ति के पैर का सिरा जमीन में काफी अंदर तक धंसा हुआ है. जिसके चलते मूर्ति को सीधा नहीं किया जा सका. इलाके के बुजुर्गों का कहना है कि बजरंग बली का पैर पाताल तक गया है. एक बार मूर्ति के पैर की लंबाई नापने के लिए खुदाई भी की गई थी, लेकिन मूर्ति के पैर का सिरा नहीं मिल पाया. 

बताया जाता है की मंदिर में आने वाले भक्तों को बजरंग बली के दर्शन तभी होते हैं, जब वो मंदिर के पास निर्मित तालाब में स्नान कर लेते हैं. इसके बाद ही मंदिर में प्रवेश मिलता है. कहा जाता है की मंदिर के पास स्थित मकरी कुंड में स्नान करने से पापों से मुक्ति मिलती है. पौराणिक कथाओं के अनुसार ये मंदिर उसी जगह स्थित है, जहां बजरंग बली ने रावण के द्वारा भेजे गए, कालनेमि राक्षस का वध किया था.

 


Leave Comments