liveindia.news

कल से शुरू हो रहा है छठ पूजा का महापर्व, जानिए इस पर्व का महत्त्व

धर्म डेस्क : दीपवाली के बाद अब देश भर में छठ पूजा को लेकर त्यारियां शुरू हो चुकी हैं. यह महापर्व कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से आरम्भ हो जाता है. दीपवाली के छह दिन बाद मनाए जाने वाले इस पर्व की रौनक खासतौर पर बिहार, उत्तरप्रदेश, झारखंड में देखने को मिलती है. इस बार छठ पूजा 20 नवम्बर को है, जानिए इस पूजा का महत्त्व और इस बार का शुभ मुहूर्त. 

छठ पूजा के महापर्व की शुरुआत चतुर्थी के दिन नहाय खाय से होती है. इस दिन व्रत करने वाली स्त्री स्नान करने के बाद नए कपड़े पहन कर शाकाहारी भोजन ग्रहण करती है. व्रत करने वाले के भोजन करने के बाद ही परिवार के अन्य लोग भोजन करते हैं. इस बार ये तिथि 18 नवम्बर को है. 

दूसरे दिन खरना बनाया जाता है. खरना के दिन व्रत करने वाला व्यक्ति पुरे दिन उपवास रख के शाम को खीर और रोटी का प्रसाद बनाता है. 

तीसरे दिन यानी शाम के वक्त अस्त होते हुए सूर्य को अर्घ्य दी जाती है. इस दिन छठ की व्रती पुरे दिन निर्जला व्रत रख के शाम को अस्त होते सूर्य को अर्घ्य देती है. इस बार शाम का अर्घ्य 20 नवंबर को है. 

चौथे दिन उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दी जाती है. जो व्यक्ति व्रत रखता है उसी के द्वारा सूर्य को अर्घ्य देने की परम्परा है. अर्घ्य देने के बाद लोग घाट पर बैठकर विधिवत तरीके से पूजा करते हैं फिर आसपास के लोगों को प्रसाद दिया जाता है. इस बार 21 नवंबर को मनाया जाएगा.

 


Leave Comments