liveindia.news

रामायण में पहले ही हो गया था कोरोना वायरस का जिक्र

इस वक्त पूरी दुनिया कोरोना माहमारी को लेकर दहशत में भारत में कोरोना के प्रकोप से अबतक 590 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि पूरी दुनिया में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना वायरस प्रतिदिन लोगों को अपनी चपेट में लेता जा रहा है. लेकिन क्या आपकों पता है कि कोरोना महामारी को लेकर लाखों वर्ष पहले जिक्र हो चुका था. जी हां हम बात कर रहे है हिंदू धर्म पवित्र धर्म रामायण की. 

गोस्वामी तुलसीदास जी द्वारा लिखे गए पवित्र ग्रंथ रामायण की में कोरोना कोरोना महामारी के बारे में जिक्र किया गया है. इतना ही नहीं इसमें इस बीमारी के लक्ष्ण के बारे में भी बताया गया है. रामायण में साफ अक्षरों में लिखा है की चमगादड़ पक्षी होगा और इसीसे बीमारी फैलेगी. इतना ही नही इस बीमारी को पहचानने और उसके लक्ष्णों के बारे में भी बताया गया है.

रामायण के इस दोहे में किया गया है कोरोना बीमारी का जिक्र

सब कै निंदा जे जड़ करहीं. ते चमगादुर होइ अवतरहीं॥
सुनहु तात अब मानस रोगा. जिन्ह ते दुरूख पावहिं सब लोगा॥

इस दोहे का हिन्दी अनुवाद में कहा गया है कि चमगादड़ पक्षी से होने वाली इस बीमारी से कफ और खांसी बढ़ जाएगी, साथ ही इंसान के फेफड़ों में एक जाल पैदा होगा.


Leave Comments