liveindia.news

देवो के देव महादेव देगें मनचाहे वरदान

देवो के देव महादेव भक्तों के कष्टों का हरण कर उनको सभी सुखों को प्रदान करते हैं. नाथो के नाथ महादेव की आराधना आनादिकाल से चलती आ रही है और भोलेनाथ हमेशा से अपने भक्तों को मनचाहा आशीर्वाद प्रदान करते आ रहे हैं. अनादिकाल से चलते आ रही शिव आराधना की परंपरा अभी भी शास्त्रोक्त विधि- विधान से चल रही है. महादेव की लिंग रूप में पूजा का ज्यादा विधान है. इसलिए शिवलिंग पूजा शास्त्रोक्त तरीके से पूर्ण करना चाहिए और कुछ खास बातों को ध्यान में रखना चाहिए.

जल चढाने से शिव होते हैं शीघ्र प्रसन्न

शिवलिंग की पूजा में जलाभिषेक की विशेष परंपरा है और इससे भोलेनाथ शीघ्र प्रसन्न हो जाते हैं. शिवलिंग को पंचामृत से स्नान करवाकर जलाभिषेक करना चाहिए. इसके बाद चंदन का लेप लगाना चाहिए. साथ ही भस्म से त्रिपुण्ड शिवलिंग पर बनाना चाहिए. शिवलिंग पर अबीर, गुलाल, सुगंधित फूल के साथ आंकड़ा, धतूरा, बिलपत्र, बेलफल, नारियल, मिठाई, पंचमेवा आदि समर्पित करें जिससे की भगवान शिव प्रसन्न हो .

शिव पूजा में करे सफेद रंग का उपयोग

महादेव की अराधना में सफेद रंग को काफी महत्वपूर्व माना जाता हैं.इस लिए महादेव को सफेद फूल,सफेद मिठाई,सफेद वस्ञ समर्पित करना चाहिए.इसी के साथ ही ग्रहों की पीडा को शान्त करने के लिए और विशेष इच्छाओ की पूर्ती के लिए विशेष पूजा का विधान है. शिव पूजा में सफेद रंग का उपयोग करने से भगवान शिव प्रसन्न होकर मनचाहे वरदान देते है.

 

 

 

 


Leave Comments