liveindia.news

आज से शुरू हैं गुप्त नवरात्र, जानिए पूजन का सही तरीका

साल भर में जो दो नवरात्र आते हैं उनमे होने वाले पूजन और विधि विधान के बारे में तो सब ही लोग अच्छी तरह से जानते हैं. लेकिन साल में इन दो नवरात्र के अलावा दो और गुप्त नवरात्र भी पड़ते हैं, जिनके बारे में बहुत ही काम लोग जानते हैं. इन नवरात्रों के समय विशेष इच्छाओं और कामनाओं की सीधी की जाती है. इन नवरात्रों के पीछे छिपे रहस्य्मयी कारणों की वजह से इन्हे गुप्त नवरात्र कहा जाता है. 

बता दें की साल भर में कुल चार नवरात्र होते हैं, यह चरों ही नवरात्र ऋतु के बदलने के समय मनाए जाते हैं. हिन्दू धरम के ग्रंथों में इस चारों ही नवरात्रों के महत्व के बारे में विस्तार से बताया गया है. हालांकि गुप्त नवरात्र के समय कुछ विशेष इच्छाओं की पूर्ति के लिए पूजा अर्चना की जाती है. 

इस तरह करें गुप्त नवरात्र में मां की पूजा 
मां को प्रसंन्न करने के लिए नौ दिनों के लिए कलश की स्थापना करें. साथ ही मंत्र जाप, चालीसा या सप्तशती का पाठ करें. 
दोनों समय आरती करें और मां को भोग लगाएं 
मां को सबसे ज़्यादा लाल फूल भाता है, इसलिए मां को लाल फूल चढ़ाएं. 

एक लकड़ी की चौकी पर लाल कपड़ा बिछाएं, उस पर मां की मूर्ति की स्थापना करें. अब मां के सामने एक बड़ा, एक मुख वाला दीपक जलाएं. सुबह शाम मां की विशिष्ट मंत्र का 108 बार जप करें. साथ ही पुरे दिन अपना आहार सात्विक रखें. 
 


Leave Comments