liveindia.news

जानिए कब है धनतेरस की तिथि और पूजा का शुभ मुहूर्त

धर्म डेस्क : धनतेरस का पर्व दीपवाली के दो दिन पहले और कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी को मनाया जाता है. कहा जाता है कि इस दिन खरीदारी करना काफी शुभ होता है. धनतेरस के पर्व पर धन के देवता कुबेर देव की पूजा करने से घर में धन संबंधी परेशानियां खत्म हो जाती हैं. हिन्दू धर्म के ग्रंथों के अनुसार, कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी पर ही धनवन्तरि अमृत का कलश लेकर प्रकट हुए थे. तभी से धनतेरस पर बर्तन खरीदने की परंपरा चली आ रही है. लेकिन इस साल धनतेरस की तिथि को लेकर असमंजस बना हुआ है, ऐसे में हम आपको बताते हैं धनतेरस की सही तिथि और पूजा का शुभ मुहूर्त.

कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी को मनाया जाने वाले इस पर्व की तिथि इस इस दो दिन की है. धनतेरस की तिथि 12 नवंबर की रात 9.30 पर शुरू होगी जो 13 नवंबर को शाम 5:50 बजे तक रहेगी. गुरूवार को रात में तिथि शुरू होने की वजह से धनतेरस का त्योहार 13 नवंबर को शुक्रवार के दिन ही मनाना शुभ रहेगा. 

13 नवम्बर को ही करें पूजा 

क्यूंकि धनतेरस की तिथि 12 नवंबर की रात से आरम्भ होकर 13  नवंबर की दोपहर तक रहेगी इसलिए धनतेरस की पूजा भी 13 तारिख को ही की जाएगी. तिथि के हिसाब से आप 13 तारिख को ही धनतेरस के लिए बर्तन, सोना, चांदी आदि की खरीदारी करें. इस दिन खरीदे जाने वाली चीज़ें ही घर में समृद्धि बनाए रखेंगी.

14 को ही मानेगी चतुर्दशी और दीपवाली 

आपको बता दें की 13 नवंबर की शाम से चतुर्थी तिथि लग जाएगी जो 14 नवंबर को दोपहर 2 बजे तक रहेगी. तिथि के हिसाब से 14 नवंबर को ही नरक चतुर्दशी का त्यौहार मनाया जायेगा. उसके बाद अमावस्या तिथि शुरु होगी जोकि 15 नवंबर को सुबह 10 बजकर 39 मिनट पर समाप्त होगी. यही वजह है कि इस साल 14 नवंबर को एक ही दिन चतुर्दशी और दिवाली दोनों मनाई जाएगी.


Leave Comments