liveindia.news

जानिए आज मां ब्रह्मचारिणी की पूजा का क्या है महत्व

धर्म डेस्क : हिन्दू धर्म में सबसे अहम माने जाने वाले शारदीय नवरात्र बीते कल (17 अक्टूबर) से आरम्भ हो चुके हैं. नवरात्रों में नौ दिनों तक मां दुर्गा के अलग-अलग रूपों की पूजा अर्चना करके मां को प्रसन्न किया जाता है. नवरात्र का आज दूसरा दिन है और आज के दिन मां दुर्गा के रूप मां ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है. हम आपको बताते हैं कि, मां ब्रह्मचारिणी को प्रसन्न करने के लिए किस तरह से पूजा की जाती है और मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करने का क्या महत्व है. 

मां ब्रह्मचारिणी ने भोलेनाथ को पति रूप में पाने के लिए घोर तपस्या की थी. इसलिए इन्हे ज्ञान, तपस्या और वैराग्य की देवी माना जाता है. माना जाता है कि मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करने से विद्यार्थियों और तपस्वियों को बहुत अधिक लाभ मिलता है. 

 इस तरह करें ब्रह्मचारिणी की पूजा 

मां ब्रह्मचारिणी की पूजा करते वक़्त हमेशा ध्यान रखें की आपने पीले या फिर सफ़ेद वस्त्र धारण किये हुए हो. यह रंग माता को अधिक प्रिय है और इससे वो प्रसन्न होती हैं. मां ब्रह्मचारिणी की पूजा में उन्हें सफ़ेद वस्तुएं जैसे कि, मिसरी, शक्कर या फिर दही का पंचामृत चढ़ाएं. मां ब्रह्मचारिणी की पूजा में वैराग्य के किसी भी मंत्र का जाप कर सकते हैं, साथ ही आप 'ॐ ऐं नमः' का भी जाप कर सकते हैं. इस दिन उपवास रखके फलहार करने वाले भक्तों से माता अधिक प्रसन्न होती हैं. 


Leave Comments