liveindia.news

Mahashivratri पर बन रहा है यह शुभ संयोग, ना करें यह गलतियां

धरम डेस्क : महादेव भोलेनाथ का सबसे बड़ा त्यौहार माने जाने वाला पर्व महाशिवरात्रि इस बार 11 मार्च यानी कल पड़ रहा है. महाशिवरात्रि का यह पर्व इस बार फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी की तिथि को मनाया जाएगा.कहा जाता है कि, महाशिवरात्रि के दिन भोलेनाथ अपने भक्तों की हर इच्छा को पूर्ण करते हैं. महाशिवरात्रि पर जो भी भक्त भोलेनाथ की सच्चे मन से पूजा-अर्चना करता है, भोलेनाथ उस पर अपनी कृपा दृष्टि बनाए रखते है. 

इस बार तीन संयोगों का मुहूर्त 

आपको बता दें कि, इस बार महशिवरात्रि पर एक शुभ संयोग बनने जा रहा है. 11 मार्च को सुबह 9:24 तक शिव योग रहेगा. इसके बाद सिद्ध योग लग जाएगा, जो 12 मार्च सुबह 8:29 तक रहेगा. शिव योग में किए गए सभी मंत्र शुभफलदायक होते हैं. इसके साथ ही रात 9:45 तक घनिष्ठा नक्षत्र रहेगा.

इस तरह करें पूजा 

प्रात:काल में जल्दी उठकर स्नान करें. इसके बाद मिट्टी के लोटे में पानी या दूध भरकर उसके ऊपर बेलपत्र डालें. धतूरे के फूल डालें. चावल आदि डालें और फिर इन्हें शिवलिंग पर चढ़ाएं. यदि आप शिव मंदिर नहीं जा सकते हैं तो घर पर ही मिट्टी का शिवलिंग बनाकर आपका उनका पूजन कर सकते हैं. शिव पुराण का पाठ करें और महामृत्युंजय मंत्र या शिव के पंचाक्षर मंत्र ॐ नमः शिवाय का जाप करें.

इन गलतियों को करने से बचें 

शिवलिंग पर भूलकर भी कुम-कुम ना चढ़ाएं 
शिवजी की पूजा में तुलसी नहीं रखी जाती, इसलिए तुलसी का उपयोग भी ना करें 
भगवान शिव को भूलकर भी टूटे हुए चावल ना चढ़ाएं. टूटे चावल शिव पूजा में वर्जित है. 
साथ ही शिवरात्रि पर भगवान को केतकी का फूल छोड़कर अन्य सभी फूल छड़ें जातें है . 


Leave Comments