liveindia.news

आज है देवशयनी एकादशी, इन कामों को करने से बचें

आज यानी की एक जुलाई को देवशयनी एकादशी मनाई जा रही है. इसे पद्मनाभा एकादशी भी कहा जाता है. इस दिन से भगवान विष्णु चार मास के लिए क्षीरसागर में शयन करने के लिए चले जाते हैं. इसलिए इसे विष्णु का शयन काल भी माना जाता है. देवशयनी एकदशी से चातुर्मास प्रारंभ हो जाता है. हिन्दू धर्म के ग्रंथों में ऐसा लिखा है की इस दिन से अगले चार महीनों तक कोई भी मांगलिक कार्य नहीं किये जाते हैं. इन महीनों में मांगलिक कार्य करना शुभ नहीं माना जाता है. 

आपको बता दें किन इस बार चातुर्मास 4 महीने की बजाय 5 महीने का होने वाला है. यह से शुरू होकर 25 नवंबर तक चलेगा. इस अवधी के बाद ही मांगलिक कार्यों की पुनः शुरुआत की जा सकेगी. देवशयनी एकदशी के दिन व्रत रखना चाहिए. ऐसी मान्यताएं हैं की इस दिन व्रत करने से भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं, और भगवान समस्त कष्टों को दूर करते हैं.

देवशयनी एकादशी के दिन इन कामों को करने से बचें

  • एकादशी के दिन जमीन पर सोना चाहिए. ऐसा कहा जाता है की इस दिन बिस्तर पर सोना अच्छा नहीं होता.
  • इस दिन आप सात्विक भोजन करें, यदि हो सके तो व्रत रखें. लेकिन मास और मदिरा से दूर रहे.
  • वैसे तो हर दिन ही स्नान के बाद ही कुछ खाना चाहिए, लेकिन एकदशी के दिन इसका महत्त्व बढ़ जाता है. इसलिए रोज़ ना हो सके तो आप कम से कम इस दिन तो स्नान के बाद ही कुछ खाएं.
  • इस दिन आप करोड़ करने से झूट बोलने से बचें. झूट बोलने से मन दूषित होता है और दूषित भक्ति से पूजा करने का कोई महत्त्व नहीं होता है. 
  • अगर आप उपवास नहीं रखते हैं और खाना खाते हैं तो खाने में चावल का सेवन ना करें. 

Leave Comments