liveindia.news

जानिए, क्यों आपके बच्चे को लगता है गणित से डर

आप सभी जानते हैं कि अधिकतर बच्चे मैथ, साइंस और फिजिक्स कैमेस्ट्री जैसे विषयों से अपना जी चुराते हैं. कुछ बच्चे इन विषयों से इतना डरते हैं कि वे तनाव में आ जाते हैं. लेकिन आज तक कोई इस समस्या का पता नहीं लगा पाया कि आखिर बच्चे इन विषयों से ही क्यों इतना खौफ खाते हैं, जबकि हमारी शिक्षा प्रणाली में और भी अन्य विषय हैं जो इंटरेस्टिंग भी हैं और कठिन भी. लेकिन इन विषयों से बच्चों को डर नहीं लगता. 

एक रिसर्च के अनुसार,  जो लोग गणित विषय को नहीं समझ पाते हैं  उसे “डिसकैलकुलिया” कहते हैं. लेकिन गणित में कमजोर लोगों की एक ओर वजह है उनका 'डर'. बच्चों को अक्सर इस विषय में फैल होने का डर रहता है.  दूसरी वजह घबराहट हो सकती है, क्योंकि बच्चा गणित की स्थिति को समझ नहीं पाता और वह घबरा जाता है.  गणित विषय से डरने के और भी कई कारण हो सकते हैं जो हम आपको बताने जा रहे  हैं... 

  1. गणित में कमजोर होना या डरना अनुवांशिक भी हो सकता है. यदि आपके माता-पिता इस समस्या से ग्रसित हैं तो ये आपको ये विरासत में मिली है. 
  2. गणित विषय के प्रति एक नकारात्मक सोच भी डर का कारण हो सकती है. इसलिए आप उसमें इंटरेस्टेड नहीं होते.  
  3. फीमेल्स को हमेशा ही गणित विषय में कमजोर माना जाता है. इससे महिलाओं में इस विषय के प्रति डर पैदा हो जाता है, और उन्हें कठिन लगता है. 
  4. हमारी उम्र के साथ भी हमारा गणित विषय से इंटरेस्ट खत्म हो जाता है. साथ ही मेमौरी भी कम होने लगती है. मैथ सॉल्व करने की स्किल्स भी कम जाती है.
  5. अन्य देशों की अपेक्षा भारतीय पेरेंट अपने बच्चों की स्किल्स पर इतना ध्यान नहीं देते. शायद ये कारण भी बच्चों को मैथ में कमजोर बनाता है.

Leave Comments