liveindia.news

किसान आंदोलन का असर, 14 जिलों में इंटरनेट सेवा पर लगी रोक

हरियाणा डेस्क : किसानों द्वारा कृषि बिल के विरोध में जारी आंदोलन के बीच ही हरियाणा सरकार ने सुरक्षा की दृष्टि से एक बड़ा फैसला ले लिया है. हरियाणा सरकार ने राज्य के 17 जिलों में इंरटनेट और एसएमएस सर्विस को कल शाम पांच बजे तक सस्पेंड कर दिया है.  दिल्ली से सटी हरियाणा की सिंघु बॉर्डर किसानों के इस आंदोलन का प्रमुख केंद्र है, जिसके कारण राज्य सरकार ने यह फैसला लिया है.

आपको बता दें कि, हरियाणा में इंटरनेट सेवा पर रोक की जानकारी सूचना विभाग द्वारा ट्वीट करके दी है.  सूचना विभाग ने ट्वीट कर कहा, ''तुरंत प्रभाव से अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल, पानीपत, हिसार, जींद, रोहतक, भिवानी, चरखी दादरी, फतेहाबाद, रेवाड़ी और सिरसा जिलों में वॉयस कॉल को छोड़कर इंटरनेट सेवाओं को 30 जनवरी, 2021 शाम 5 बजे तक के लिए बंद करने का निर्णय लिया है.''

दिल्ली-हरियाणा की सिंघु बॉर्डर पर  दो महीने से अधिक समय से किसान केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं. आज सिंघू बॉर्डर पर कथित स्थानीय लोग प्रदर्शन स्थल पर पहुंच गए. इसके बाद यहां झड़प हो गई. इस दौरान एक एसएचओ समेत कई घायल हो गए.


Leave Comments