liveindia.news

Lockdown लगने से पहले प्रवासी मजदूरों का पलायन शुरू

देश में कोरोना का संक्रमण अब अपनी रफ्तार पकड़ने लगा है. जिसके चलते कई जगह रात्रि कर्फ्यू तो कई जगह लाॅकडाउन लगाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. लाॅकडाउन लगाए जाने को लेकर एक बार फिर प्रवासी मजदूर संकट में आ गए है. प्रवासी मजदूरों ने अब लाॅकडाउन से पहले ही घर वापसी शुरू कर दी है, क्योंकि पिछले साल लगे लाॅकडाउन के बाद मजदूरों को पलायन करने के दौरान कई संकटों का सामना करना पड़ा था. इतना ही नहीं कई मजदूरों को सड़क हादसों में अपनी जान गवानी पड़ी थी. इसलिए मजदूरों ने लाॅकडाउन से पहले ही अपने घर की ओर पलायन करना शुरू कर दिया है.

खबरों के अनुसार हरियाणा के सोनीपत में प्रवासी मजदूर घर वापस जाने लगे है. जिसके चलते राष्ट्रीय राजमार्ग पर लंबी लाइन लगने लगी है. राजमार्ग पर देखा जा सकता है कि बसों में ठसाठस भरकर मजदूर पलायन करने लगे है. पलायन कर रहे मजदूरों का कहना है कि पिछले साल लाॅकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा मजदूर वर्ग परेशान हुआ था, जब हमारे पास पैसे नहीं बचे और काम मिलना बंद हो गया, तो हमे पैदल ही अपने घर की ओर रवाना होना पड़ा था. लेकिन इस बार हम ऐसी स्थिति पैदा होने से पहले ही अपने घर लौट रहे है.

उद्योगों की परेशानियां बड़ी

मजदूरों के पलायन से उद्योगों की परेशानियां बढ़ने लगी है. मजदूरों के पलायन से उद्योगों में मजदूरों की कमी होने लगी है, जिसके चलते उत्पादन कम होने लगा है. पहले तो कोरोना की मार से उद्योग बंद रहे, फिर किसान आंदोलन का उद्योगाें पर असर पड़ा और अब लाॅकडाउन की आशंका से मजदूर फिर पलायन करने लगे. जिससे उद्यमियों के लिए मजदूरों का संकट खड़ा हो गया.


Leave Comments