liveindia.news

भोलेनाथ को चढ़ने वाली इस चीज से करें गंजापन दूर

आज पूरे देश में महाशिवरात्रि के मौके पर भोलेनाथ के मंदिरों में भक्तों का तांता लगा हुआ है. भगवान भोलेनाथ को खुश करने के लिए उनके भक्त धतूरा चढ़ाते हैं, क्योंकि शास्त्रों में कहा गया है कि भोलेनाथ को धतूरा बहुत पसंद है. माना जाता है कि भोलनाथ को धतूरा चढ़ाने से जीवन के कष्ट दूर हो जाते हैं. पुराणों के मुताबिक भगवान भेलेनाथ की व्याकुलता को दूर करने के लिए अश्विनी कुमानों ने शिव जी को धतूरा, बेल आदि दिया था, लेकिन क्या आपकों पता है कि भोलनाथ को खुश करने वाला धतूरा आपके जीवन में भी खुशियां ला सकता है, क्योंकि धतूरा औषधी के रूप में काफी कारगर है.

पुरूषों के लिए वरदान है धतूरा

आयुर्वेद के अनुसार धतूरे को अगर सीमित मात्रा में लिया जाए तो ये औषधि का काम करता है. धतूरा इंसान के शरीर को अंदर से गर्म रखता है. धतूरा का सेवन पुरूषों के लिए वरदान माना जाता है. धतूरा पुरूषों की शारीरिक क्षमता को बढ़ाने में कामगर साबित हुआ है, आयुर्वेद के अनुसार धतूरे के बीज में लौंग को बराबर मात्रा में पीस कर इसमें शहद मिलाकर छोटी-छोटी गोलियां बना लें और रोज सुबह एक गोली खाएं.

जोड़ों के दर्द में कामगार

आयुर्वेद के अनुसार धतूरे का उपयोग जोड़ों के दर्द को दूर करने के लिए भी किया जाता है. इतना ही नहीं सूजन में भी धतूरा काफी लाभदायक है. इसके लिए धतूरे की पत्तियों को अच्छी तरह से पीसकर उसका लेप करना चाहिए, जिससे आपको तुरंत आराम मिलेगा. क्योंकि धतूरे के लेप की तासीर गर्म होती हैं जिससे मांसपेशियां नरम हो जाती हैं और तुरंत आराम मिलता है.

गंजेपन को दूर करने का अचूक इलाज

दुनियाभर में 60 फीसदी पुरूष अपने गंजेपन से परेशान हैं. इंसान अपने गंजेपन को दूर करने के लिए क्या-क्या जतन नहीं करते हैं, लेकिन भगवान भोलेनाथ को चढ़ने वाला धतूरा गंजेपन को दूर करने में काफी सहायक सिद्ध हुआ है. आयुर्वेद के अनुसार धतूरे के रस में कई गुण होते हैं, गंजेपन को दूर करने के लिए धतूरे के रस में तिल का तेल मिलाकर लगाने से कम समय में गंजेपन की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.

 


Leave Comments