liveindia.news

Congress से आजाद होकर BJP के गुलाम बनेंगे आजाद!

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) के दिल में क्या है? क्या वह बीजेपी का दामन थामना चाहते हैं या फिर PM MODI के आजाद आंसूओं के बाद खुद कांग्रेस से आजाद (Ghulam Nabi Azad) होना चाहते हैं. ये कयास तब से सियासी गलियारों में उठ रहे हैं, जब से पीएम मोदी (PM Modi) गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) के मुरीद हुए और आजाद पीएम मोदी (PM Modi) के मुरीद बने. एक बार फिर आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने PM MODI की तारीफों के पुल बांध दिए हैं. 

गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा की प्रधानमंत्री पद पर बने होने के बावजूद उन्होंने अपनी जड़ों को याद रखा है और खुद को गर्व से चायवाला कहते हैं. दरअसल, जम्मू में आयोजित गुर्जर सभा को संबोधित करते हुए आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने कहा लोगों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) से सीखने की जरूरत है. क्योंकि प्रधानमंत्री बनने के बाद भी अपनी जड़ों को नहीं भूले, वो खुद को बड़े गर्व से चायवाला कहते हैं. हालांकि नरेन्द्र मोदी (PM Modi) के साथ मेरी राजनीतिक विचार धारा अलग है, लेकिन पीएम मोदी (PM Modi) जमीन से जुड़े हुए व्यक्ति हैं.

आजाद (Ghulam Nabi Azad) की जुबान से पीएम मोदी की तारीफें तब से शुरू हो गई हैं, जब से आजाद के लिए दिए विदाई भाषण में पीएम मोदी ने आजाद की जमकर तारीफ की और उनकी विदाई पर उनके आंसू छलक उठे. पीएम मोदी के करीब 13 मिनट के भाषण में मोदी के कई बार आंसू आए. इसके बाद से गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) पीएम मोदी के मुरीद हुए जा रहे हैं. यही वजह है कि सियासी गलियारों में अटकलों का बाजार गर्म है. कहा जा रहा है कि गुलाम नबी (Ghulam Nabi Azad) कांग्रेस से आजाद होकर बीजेपी में शामिल होना चाहते हैं.

वहीं खबर ये भी है की एनडीए (NDA) की ओर से आजाद को उपराष्ट्रपति बनाने की बाते भी चल रही हैं तो वहीं दूसरी ओर कहा जा रहा है कि उन्हें किसी राज्य का राज्यपाल भी बनाया जा सकता है. चर्चा यह भी है की बीजेपी (BJP) आजाद को जम्मू कश्मीर में कुछ समय बाद होने वाले चुनावों में कोई बड़ा रोल दे सकती है. क्योंकि घाटी में बीजेपी की पकड़ तो मजबूत है, लेकिन बीजेपी के पास घाटी में अपना कोई कद्दावर चेहरा नहीं है, जो घाटी के लोगों को लुभाने का काम कर सके. बता दें की आजाद (Ghulam Nabi Azad) के जुंबा से मोदी की तारीफें कांग्रेस की मुसीबतें भी बढ़ाने लगी हैं. आपको ये भी बता दें की गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने बीते दिनों बीजेपी में शामिल होने की बात पर कहा था की जिस दिन घाटी में काली बर्फ गिरेगी, मैं उस दिन बीजेपी में शामिल हो जाऊंगा.


Leave Comments