liveindia.news

बाॅलीवुड का हो रहा भगवाकरण!

सुशांत सिंह की मौत के बाद जब देश की मीडिया ने सुशांत की मौत का मामला उठाया था और फिर कंगना रनौत जिस तरह से सुर्खियों में आई थी, उससे एक बात सामने निकलकर आई थी की जो भी हो रहा है. सब केंन्द्र सरकार के इशारों पर हो रहा है. लोगों का यह भी कहना था की यह सब महाराष्ट्र की ठाकरे सरकार को हिलाने उसे उखाड़ फैंकने और बिहार के चुनाव में सुशांत की मौत की जांच कराने की सहानुभूति लेने की चाल चली जा रही है. 

बात करते है मुद्दे की, बात उठी थी की सुशांत की मौत कैसे हुई. लेकिन पिछले ढाई महीने की पूरी यात्रा के बाद सुशांत की मौत का मुद्दा पीछे चला गया है. अब उस मुद्दे पर कोई बातचीत नहीं कर रहा, यहां तक की सीबीआई भी सुशांत की मौत के मामले में चुप्पी साधे हुए है. सुशांत के मामले में अब सबसे आगे चल रहा है तो वो है, एनसीबी. नारकोटिक्स डिपार्टमेंट ने तो रिया चक्रवर्ती और उनके भाई को जेल में डाल दिया है और अब दीपिका पादुकोड़ जैसी बड़ी अभिनेत्री पर हाथ डालने की कोशिश की जाने लगी है. 

लेकिन अब बाॅलीवुड के कई बड़े कलाकारों को ड्रग्स के मामले को लेकर निशाना बनाया जा रहा है. इससे साफ तौर पर दिखाई दे रहा है की यह कोई छोटा एजेंड़ा नहीं है, बल्कि ये एक बड़े एजेंडे के साथ काम हो रहा है. क्योंकि बाॅलीवुड के खास तरह के लोगों को ही निशाना बनाया जा रहा है. सभी जानते है की दीपिका पादुकोण का जेएनयू प्रदर्शन हिस्सा लेना, अनुराग कश्यप का सरकार के खिलाफ लगातार बोलना, तो एक तफर ऐसे लोगों को निशाना बनाया जा रहा है. मामला करन जौहर तक पहुंच गया है. हालांकी करन जौहर ने साफ कह दिया है कि वह ड्रग्स नहीं लेते है और ना ही इसका समर्थन करते है.

ड्रग्स मामले को लेकर बारी-बारी से बाॅलीवुड की कई बड़ी हस्तियों को फंसाया जाने लगा है. यह सब देखकर ऐसा लगता है की कोई बड़ा एजेंड़ा मामले के पीछे काम कर रहा है. चूंकि बाॅलीवुड एक बड़ा पावरफुल प्लेटफार्म है, जिसका समाज पर सीधा असर पड़ता है. इसलिए माना जा रहा है की संघ परिवार बाॅलीवुड का भगवाकरण करने में जुटी हुई है. सीधे शब्दों में कहा जाए तो बाॅलीवुड के जो लोग संघ परिवार की आंख की किरकरी बने हुए है, उन्हें खत्म किया जा रहा है. फिल्म इंड्रस्ट्रीज में जो खान बंधुओं को दबदवा है, उसे खत्म करने की संघ द्वारा भरपूर कोशिश की जा रही है. जिस तरह से बीजेपी ने पूरे देश में हिंदुत्व को लेकर भगवाकरण करने की कोशिश की है, ठीक उसी तरह से अब बाॅलीवुड को भगवाकरण करने की कोशिश की जा रही है. यह पूरी सोची समझी रणनीति है. लेकिन हम यह भी नहीं कह सकते की बाॅलीवुड पूरी तरह से साफ सुतरा है, लेकिन देश की राजनीति भी कोई दुध की धुली नहीं है.


Leave Comments