liveindia.news

मंत्री के इस्तीफे से मोदी को आया पसीना

नरेंन्द्र मोदी सरकार किसानों के खिलाफ है. मोदी सरकार किसानों के मुद्दों पर अनाप-सनाप फैसले ले रही है. यह बात हम नहीं बल्कि बीजेपी की सबसे पुरानी सांझेदार अकाली दल की नेता और मोदी सरकार में मंत्री रही हरसिमरत कौर बादल कह रही है. किसानों को लेकर मोदी सरकार के रवैये से परेशान उनकी मंत्री हरसीमरत कौर इतनी परेशन हो गई की उन्होंने 20 साल पुरानी सांझेदारी की परवाह ना करते हुए मोदी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया. हरसिमरत कौर के इस्तीफे से मोदी सरकार की पोल खुल गई है. उन्होने साफ कह दिया की ये तो किसानों की कमर तोड़ने वाला कानून है, हम इसे कभी स्वीकार नहीं कर सकते है.

हरसिमरत कौर के पति और अकाली दल के अध्यक्ष सुखवीर सिंह बादल ने पहले ही कह दिया था की मोदी सरकार किसान विरोधी कार्य कर रही है. उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है. हालांकी बीजेपी के नेताओं ने बादल को मनाने की बहुत कोशिश की लेकिन बादल ने साफ तौर पर कह दिया की मोदी सरकार पंजाब के 20 लाख से अधिक किसानों के खिलाफ जा रही है और इसमें अकाली दल के समर्थन की उम्मीद ना करें.

भले ही बीजेपी को संसद मे कोई फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि लोकसभा में उसके मात्र 2 सासंद है और राज्यसभा में 3 सासंद है. लेकिन पंजाब में अकाली दल के बिना बीजेपी का बजूद कुछ भी नही है. संसद में किसानों को लेकर बहस चल ही रही थी की, बाहर से खबर आई की हरसिमरत कौर ने अपने पद से इस्तिफा दे दिया. उन्होने ट्वीट करके ऐलान कर दिया उन्होने ट्वीट करते हुए कहा की मैंने केंन्द्रीय मंत्री पद से किसान विरोधी अध्यादेशों और बिल के खिलाफ इस्तीफा दे दिया है. किसानों की बेटी और बहन के रूप में उनके साथ खड़े होने पर मुझे गर्व है. हरसिमरत कौर ने प्रधानमंत्री मोदी को सौंपे इस्तीफे में अपनी पार्टी और अपनी किसानों को एक दूसरे का पर्याय बताया है. साथ ही कहा गया है कि, किसानो के हितों से उनकी पार्टी किसी तरह का समझौता नहीं कर सकती है. 

हरसीमरत कौर के इस्तीफे के बाद पीएम मोदी को पसीना आ गया और उन्होंने एक ट्वीट करते हुए कहा की मैं देश के किसानों को स्पष्ट संदेश देना चाहता हूं. आप किसी भी भ्रम में मत पड़िए. जो लोग किसानों की रक्षा का ढिंढोरा पीट रहे हैं, दरअसल वे किसानों को अनेक बंधनों में जकड़कर रखना चाहते हैं. वे बिचैलियों का साथ दे रहे हैं, वे किसानों की कमाई लूटने वालों का साथ दे रहे हैं.


Leave Comments