liveindia.news

अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को लेकर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

नेशनल डेस्क : देश भर में जब से कोरोना महामारी फैली है, उसके बाद से ही कई महत्वपूर्ण परीक्षाएं रद्द करनी पड़ी हैं. कॉलेज में पढ़ने वाले ऐसे विद्यार्थी जिनका अंतिम वर्ष नहीं था उन्हें तो जनरल प्रमोशन देकर पास कर दिया गया है. लेकिन अंतिम वर्ष के बच्चों का क्या? क्या उन्हें भी जनरल प्रमोशन देकर पास किया जा सकता है? इस मुद्दे पर आज सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है.

यह सुप्रीम कोर्ट का आदेश 

आपको बता दें की आज ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा यह आदेश दिया गया है कि, अंतिम वर्ष की परीक्षाएं यूजीसी के आदेशानुसार ही संपन्न करवाई जाएंगी. यह फैसला कोर्ट का अंतिम फैसला है. बता दें की अंतिम वर्ष के विधार्थियों में इस बात को लेकर असमंजस था की परीक्षाएं होंगी भी या नहीं. ऐसे में अब कोर्ट का फैसला आ गया है, और फैसले में परीक्षाओं को आयोजित कराने की बात कही गई है. 

30 सितम्बर के पहले हो परीक्षाएं 

आपको बता दें की इससे पहले यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में 30 सितंबर तक फाइनल ईयर की परीक्षाएं अनिवार्य रूप से पूरी करवाने का आदेश दिया है. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा है की, अगर कोई राज्य अपने राज्य में परीक्षाएं नहीं करवा सकता है, तो उन्हें यूजीसी के समक्ष अपनी बात और वजह रखना अनिवार्य होगा. 

 


Leave Comments