liveindia.news

फारूक अब्दुला और उमर अब्दुला किए गए नज़रबंद

जम्मू-कश्मीर डेस्क : नेशनल कांफ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला और उनके बेटे अमर अब्दुल्ला को एक बार फिर नज़रबंद कर लिया गया है. श्रीनगर स्थित उनके आवास पर उन्हें नज़रबंद कर लिया गया. इस बात की जानकारी खुद उमर अब्दुल्ला ने ट्विटर के माध्यम से दी. उन्होंने बताया है कि, उन्हें और उनके पिता फारूक अब्दुल्ला को बिना किसी जानकारी दिए नज़रबंद कर लिया गया. 

आपको बता दें कि, नेशनल कांफ्रेंस उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लिखा है कि, "यह अगस्त 2019 के बाद का नया जम्मू-कश्मीर है...बिना कुछ बताए हमे अपने घरों में बंद कर दिया गया है. यह काफी गलत बात है. मेरे पिता और सांसद को मेरे घर में कैद कर दिया है. इसके साथ ही मेरी बहन और उनके परिवार को उन्ही के घर में बंद कर रखा गया है".  वहीं पूर्व सीएम और पीडीपी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती को कल पुलवामा जाने की इजाजत नहीं दी गई.

इसके साथ ही उमर अब्दुल्ला ने एक और ट्वीट करते हुए कहा कि ,"चलो, आपके लोकतंत्र के नए मॉडल का मतलब है कि बिना किसी स्पष्टीकरण के हम अपने घरों में बंद रखा जाता है. लेकिन घर में काम करने वाले स्टाफ को भी काम करने के लिए घर में आने की इजाजत नहीं दी जा रही है, और फिर आप ताजुब्ब करेंगे कि मैं अब भी नाराज हूं'' .इसके साथ ही, जम्मू-कश्मीर की पीडीपी पार्टी की अध्यक्ष और राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री रह चुकी महबूबा मुफ़्ती को भी पुलवामा जाने की इजाजत नहीं दी गई.


Leave Comments