liveindia.news

सिंधिया खानदान का नामो निशान मिटाने में जुटी बीजेपी!

मध्यप्रदेश में होने वाले उपचुनाव को देखते हुए ग्वालियर में अपना वाॅर रूम तैयार कर लिया है. पांच मंजिला में बने इस वातानुकुलित इस वाॅर रूम से चुनाव के लिए सारे काम होंगे. लेकिन इस वाॅर रूम को लेकर सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गई है. इस वाॅर रूम में जनसंघ के संस्थापक विजया राजे सिंधिया और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का एक भी चित्र ना होना बीजेपी नीति और रीति पर कई बड़े प्रशनचिन्ह खड़े कर रहा है.

मध्यप्रदेश में होने वाला उपचुनाव कई मायनों में इन इवारत लिखने जा रहा है. ऐसा पहली बार होगा जब चुनाव का बेटल ग्राउंड राजधानी भोपाल ना होकर ग्वालियर है. इसी को लेकर बीजेपी ने यहां एक आलिशान चुनाव कार्यालय तैयार किया है. अब इसी कार्यालय से चुनाव की पूरी रणनीति तैयार की जाने लगी है. वाॅर रूम का ग्वालियर में होना साफ बताता है की भाजपा की नजर क्षेत्र की 16 सीटों पर है और इन्ही सीटों पर सिंधिया की साख दांव पर लगी है. वाॅर में कहीं पर भी जनसंघ की संस्थापक और बीजेपी की सबसे बड़ी महिला नेता रहीं विजया राजे सिंधिया जोकि ज्योतिरादित्य सिंधिया की दादी है और भारत रत्न अटल बिहारी वाजयपेयी की कोई भी फोटो नहीं लगाई गई है. 

पूरे आलीशान कार्यालय में नरेन्द्र मोदी, जेपी नड्डा, शिवराज सिंह और नरेन्द्र सिंह तोमर की तस्वीरों से पटा हुआ है. राजनैतिक गलियारों में चर्चा है की ग्वालियर पर सिंधिया राजघराना शुरू से ही राज करता आ रहा है और ऐसे में बीजेपी फिर से सरकार बनाने के लिए सिंधिया पर निर्भर है. उसके बावजूद भी बीजेपी सिंधिया राजघराने को कोई तबज्जो नहीं देता नजर आ रहा है. कांग्रेस नेता ने अपनी दवी जुबान में कहा है की बीजेपी के इस कार्य को देखकर ऐसा लगता है की बीजेपी सिंधिया खानदान का नामो निशान मिटाने में जुटी हुई है. बीजेपी सिंधिया और उनके परिवार का उनके ही क्षेत्र में अपमान कर रही है.


Leave Comments