MP में बढ़ा सियासी घमासान, इस्तीफे को तैयार Shivraj के विधायक!

मध्यप्रदेश में इन दिनों सियासी उठापठक ऐसी चल रही है की कभी भी किसी का सिंहासन डोल सकता है. बीजेपी में लगातार हो रही नेताओं की बैठके बीजेपी में बड़े फेरबदल की ओर इशारा कर रही है, फिर वो चाहें कोई विधायक हो या मंत्री. राजनैतिक गलियारों में तो चर्चा यह भी है कि सीएम शिवराज की कुर्सी खतरे में है. इस सियासी घमासान का असर अब प्रदेश के विधायकों पर भी नजर आ रहा है. जिनकी बयानबाजियों से राजनीतिक पारा और चढ़ रहा है. हाल ही में एक विधायक ने भरी सभा में ऐलान कर दिया कि वो इस्तीफा भी दे सकते हैं.

ये नजारा टीकमगढ़ की जिला क्राइसिस कमेटी की बैठक का है. जिसमें विधायक राकेश गिरी, सांसद बीजेपी जिलाध्यक्ष और सिंधिया समर्थक पर जम कर बरसे. विधायक ने साफ ऐलान कर दिया कि हम शिवराज के विधायक हैं कहेंगे तो इस्तीफा दे देंगे. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश में राजनीति किस हद तक बढ़ी हुई है. विधायक की बात सुनकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश पर कोई भी सियासी संकट आया तो विधायकों की लॉबिंग हो सकती है.

हालांकि आपकों बता दें कि मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सोमवार को राजनैतिक फेरबदल की अटकलों पर विराम लगा दिया है. नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बड़ा बयान दिया है. गृहमंत्री नरोत्त्म मिश्रा ने अपने बयान में कहा है कि सरकार में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर जो खबरे तेजी से फैल रही है, वह सारी खबरे फेक है. उन्होंने प्रदेश की जनता से ऐसी खबरों पर ध्यान नहीं देने की बात कही है. नरोत्तम मिश्रा ने बयान में आगे कहा है कि शिवराज सिंह मुख्यमंत्री थे, मुख्यमंत्री हैं और शिवराजसिंह मुख्यमंत्री रहेंगे. वाट्सएप एक ऐसी यूनिवर्सिटी है, जिसका टब बनने के लिए किसी डिग्री की जरूरत नहीं.


Leave Comments