liveindia.news

सिंधिया के गढ़ में गरजे कमलनाथ, नाम पता सब बता दूंगा

राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के गढ़ में दो दिन से कमलनाथ की हुंकार गूंज रही है. मेगा शो के दूसरे औरअंतिम दिन पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बीजेपी, सीएम शिवराज सिंह चौहान और सिंधिया पर जोरदार हमला बोला. केंद्र में एक ही मुद्दा था किसान कर्ज माफी. पर इसके अलावा भी दूसरे मामलों पर कमलनाथ जमकर बरसे और शिवराज सरकार से पूरे 15 महीने का लेखा जोखा मांग लिया.  इस मौके पर कमलनाथ ने शिवराज-सिंधिया को आमने सामने बैठकर किसान कर्ज माफी पर चर्चा करने की चुनौती भी दी. 

बीजेपी का सर्टिफिकेट नहीं चाहिए

कमलनाथ ने कहा कि मैं शिवराज को चुनौती देता हूं कि वो आएं और आमने सामने बैठकर किसान कर्ज माफी पर चर्चा कर लें. मैं 26 लाख किसानों के नाम पते और राशि सब बता दूंगा. नाथ ने आगे कहा कि मालनपुर पर भी बड़ी बड़ी बातें हो चुकी हैं. कितनी घोषणाएं हुईं ये सब जानते हैं. हम अपनी नीति और नियती का परिचय दे चुके है. जिसके लिए मुझे किसी का सर्टिफिकेट नहीं चाहिए. कमलनाथ ने कहा कि 15 महीने का हिसाब किस हक से मांगते हैं. जबकि अब तक अपने 15 साल के कार्यकाल का हिसाब नहीं दे सके हैं. उन्हें पहले अपना हिसाब देना चाहिए.

निवेश और राहत पैकेज पर भी सवाल

कमलनाथ ने इस मौके पर शिवराज सरकार में हुईं इंवेस्टर समिट  पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि 15 साल में कितनी इंवेस्टर्स समिट हुईं, लाखों करोड़ों के निवेश किए गए. वादे और दावे किए गए. पर निवेश कहां गया. निवेशनकों ने बीजेपी सरकार पर भरोसा क्यों नहीं किया. नाथ ने कहा कि बीजेपी सरकार की पहचान माफिया, मिलावट और भ्रष्टाचार से थी इसलिए निवेशक नहीं आए. पर मुझ पर कोई उंगली नहीं उठा सका. मेरा राजनीतिक जीवन बेदाग है. इस दौरान कमलनाथ ने कोरोना से जुड़े राहत पैकेज पर भी सवाल उठाए. कहा कि बीस लाख में से बीस रूपये भी किसी को अब तक मिले क्या. अंत में कमलनाथ ने कहा कि शिवराज जी झूठ की राजनीति बहुत हो गई, अब ये चलने वाली नहीं है.


Leave Comments