liveindia.news

क्या दिग्विजय सिंह ने ले ली है कमलनाथ की जगह?

क्या दिग्विजय सिंह ने ले ली है कमलनाथ की जगह?

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अब कमलनाथ की जगह लेने जा रहे है. बीते दिनों खबरे थी की कांग्रेस आलाकमान कमलनाथ को दिल्ली की राजनीति में शामिल कर कांग्रेस शासित राज्यों में हो रही उठापठक को सुलझाने का काम करेंगे. खबर यह भी आई थी की कमलनाथ राजस्थान में गहलोत पायलट के बीच का मसला सुलझाने जाएंगे. कांग्रेस आलाकमान ने कमलनाथ को राष्ट्रीय नेतृत्व में ना लेकर दिग्विजय सिंह को राष्ट्रीय स्तर के मुद्दो को उठाने वाली कमेटी का चेयरमैन बनाया था और अब दिग्विजय सिंह राजस्थान का दौरा करने वाले है. दिग्विजय का राजस्थान का दौरा और उन्हें कमेटी का चेयरमैन बनाने को लेकर राजनैतिक गलियारों में चर्चा है कि क्या कांग्रेस आलाकमान दिग्गी राजा को राष्ट्रीय नेतृत्व में सक्रिय करना चाहते है? क्या दिग्जिवय सिंह कमलनाथ की जगह लेने जा रहे है?

यह भी पढे - मध्यप्रदेश में राज्यसभा उपचुनाव में बीजेपी ने मारी बाजी
यह भी पढे - कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने लिया राजनीति से संन्यास

जानकारी के अनुसार 1 अक्टूबर को मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह राजस्थान दौरे पर आने वाले है. सूत्रों का दावा है कि दिग्विजय सिंह सरकार के मंत्री विधायकों से मुलाकात करेंगे और सरकार का फीडबैक लेंगे. इसके बाद दिग्विजय सिंह कांग्रेस आलाकमान को रिपोर्ट सौपेंगे. हालांकि पार्टी द्वारा सिंह के कार्यक्रम में इसका जिक्र नहीं किया गया है. लेकिन दिग्विजय सिंह का जयपुर दौरा काफी अहम माना जा रहा है.

यह भी पढे - मध्यप्रदेश में राज्यसभा उपचुनाव में बीजेपी ने मारी बाजी
यह भी पढे - कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने लिया राजनीति से संन्यास

दरअसल, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह जयपुर में पत्रकारों को संबोधित करने आ रहे है. वे पेट्रोल, डीजल और महंगाई के मुद्दे को लेकर अपना और पार्टी का पक्ष रखेंगे. बता दें कि बीते दिनों कांग्रेस आलाकमान ने आगामी चुनावों को देखते हुए राष्ट्रीय स्तर के मुद्दों को उठाने के लिए एक कमेटी गठित की थी, जिसका अध्यक्ष कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को बनाया गया था. सिंह इसी सिलसिले में जयपुर दौरे पर आ रहे है. लेकिन राजस्थान में गहलोत पायलट के बीच चल रहे विवाद के बीच दिग्विजय सिंह का आना राजस्थान के सियासी बदलाव के भी संकेत देता है. सिंह के दौरे को लेकर पार्टी में एक बार फिर से हलचल बढ़ गई है.


Leave Comments