liveindia.news

मोदी के मंत्री के घर पर पथराव, पुलिस गिरफ्तार करने निकली

मोदी के मंत्री के घर पर पथराव, पुलिस गिरफ्तार करने निकली

महाराष्ट्र के मुख्मयंत्री उद्धव ठाकरे को ‘थप्पड़ मारने’ का बयान देने वाले मोदी मंत्री मंडल के मंत्री नारायण राणे के खिलाफ महाराष्ट्र में विरोध शुरू हो गया है. इतना ही नहीं शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने मंत्री राणे के घर पर जमकर पथराव भी किया है. मामले के बाद बीजेपी और शिवसेना आमने सामने आ गई है. वही औरंगाबाद में शिवसेना ने मंत्री के खिलाफ चप्पल मारो आंदोलन शुरू कर दिया है.

मंत्री राणे के घर के बाहर शिवसेना कार्यकर्ताओं का हंगामा जारी है. दरअसल, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मंत्री मंडल में शामिल केंद्रीय मंत्री नारायाण राणे को गिरफ्तार करने का आदेश जारी किया गया है. नारायण राणे को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बारे में विवादित बयान देने के मामले में गिरफ्तार करने का आदेश जार हुआ है. नारायाण राणे पर नासिक के सायबर पुलिस थाने में मामला दर्ज हुआ था, उनपर सीएम ठाकरे के खिलाफ विवादित बयान देने का आरोप है.

शिवसेना ने दी राणे को धमकी

मामले को लेकर शिवसेना कार्यकर्ताओं में भारी रोष है. शिवसेना समर्थकों ने मंत्री राणे को बगैर सुरक्षा के बाहर निकलने की चुनौती देते हुए कहा है जिसने हमारे मुख्यमंत्री को गलत शब्द का इस्तेमाल किया है, हम उसका विरोध कर रहे है. हम उसे चैलेंज करते है की वह बिना सुरक्षा के कैसे घूम सकता है. वह बिना सुरक्षा के घूमकर दिखाए. वही मंत्री राणे ने कहा है कि मैने कोई अपराध नहीं किया है, मुझे कोई गिरफ्तारी का नोटिस नहीं मिला है. गिरफ्तारी की खबरे झूठी है. पुलिस को मेरे बयान की जांच करानी चाहिए. 

राणे को गिरफ्तार करने पुलिस निकली?

सूत्रों से जानकारी मिला है कि मंत्री नारायण राणे को गिरफ्तार करने के लिए नाशिक पुलिस निकल चुकी है. पुलिस चिपलून के लिए निकली है, जहां राणे मैजूद है. सूत्राें का कहना है कि नाशिक पुलिस आयुक्त ने मंत्री राणे को गिरफ्तार करने और उन्हें कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया है. 

क्या कहा था मंत्री राणे ने

दरअसल, केन्द्रीय मंत्री नारायण राणे ने 15 अगस्त के दौरान अपने भाषण में उद्वव ठाकरे के कान के नचे थप्पड़ लगाने वाला बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि उद्धव ठाकरे आजादी का वर्ष भूल गए और उन्हें बीच में अपने सहयोगियों से इस बारे में पता करना पड़ा, वह होते तो उनके कान के नीचे थप्पड़ लगाते. राणे ने यह विवादित बयान रायगढ़ में जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान दिया था. बता दें कि मोदी कैबिनेट में शामिल नए मंत्री इन दिनों जन आर्शिवाद यात्रा निकाल रहे है.


Leave Comments