liveindia.news

मोदी मंत्रिमंडल में महाराष्ट्र से ये नेता बन सकते है मंत्री

मोदी मंत्रिमंडल में महाराष्ट्र से ये नेता बन सकते है मंत्री

मोदी सरकार के कैबिनेट में उठापटक होने जा रही है. जानकारी के अनुसार आगामी एक हफ्ते में मंत्रिमंडल में फेरबदल के साथ मंत्रिमंडल का विस्तार भी हो सकता है. मंत्रिमंडल की खबर फैलते ही महाराष्ट्र के कई दिग्गज नेताओं के नाम सामने आ रहे है. केंद्रीय कैबिनेट विस्तार के लिए महाराष्ट्र से कई नामों की चर्चा हो रही है. 

नारायण राणे - पहले उम्मीदवार के रूप में राज्यसभा सांसद नारायण राणे, जो 1968 से 2005 तक शिवसेना में थे.1999 में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे.  फिर शिवसेना छोड़कर  2017 में कांग्रेस में आये. 2017 में महाराष्ट्र स्वाभिमान पक्ष नाम से खुद की पार्टी बनाई लेकिन 2019 में अपनी पार्टी का बीजेपी में विलय कर दिया और बीजेपी से राज्यसभा के सांसद बना दिए गए.

कपिल पाटिल - इसके अलावा कई मंत्रालय भी संभाले. इसके बाद भिवंडी लोकसभा सीट से कपिल पाटिल का नाम सामने आता है जो भिवंडी लोकसभा क्षेत्र से दूसरी बार सांसद हैं. 2014 में यह एनसीपी से बीजेपी में शामिल हो गए थे.

रंजीतसिंह नाईक निंबालकर  - तीसरे उम्मीदवार के रूप में रंजीतसिंह नाईक निंबालकर की तरफ ध्यान जाता है जो महाराष्ट्र के माढा लोकसभा सीट से सांसद हैं. 2019 में इन्होंने माढा सीट से एनसीपी के नेता संजय शिंदे को धूल चटाई थी.

डॉ भागवत - उसके बाद डॉ भागवत का नाम लिया जाता है जो कराड महाराष्ट्र के औरंगाबाद से हैं. मौजूदा समय में राज्यसभा के सांसद हैं और औरंगाबाद के दो बार मेयर रह चुके हैं. पांचवें और अंतिम प्रतिनिधि के रूप में डॉ. हीना गावित को लिया जाता है जो पेशे से डॉक्टर हैं और संसद की सबसे कम उम्र की सदस्या हैं. वे 2014 को नई दिल्ली में भाजपा में शामिल हुईं. वह नंदुरबार निर्वाचन क्षेत्र से दो बार सांसद बनी.

इसके बाद तो अनेको कयास लगाए जा रहे हैं मगर फैसला जो भी होगा निश्चित रूप से बीजेपी के लिए मजबूती मिलेगी. मीडिया भी अधीर होकर बैठी है और जानना चाहती है कि मोदी सरकार अपना रुख किस ओर करेगी.


Leave Comments