liveindia.news

राज्य में होने वाले है इन 4 सिटों पर उपचुनाव

साल 2020 देश दुनिया के साथ ही राजनीति के लिए भी जानलेवा साबित रहा. कोरोना महामारी ने देशभर के लाखों लोगों को अपने आगोश में ले लिया, तो कई गंभीर बिमारियों के चलते दुनिया को अलविदा कह गए. राजनीति की बात करें तो राजस्थान की राजनीति में बीते चार महीनों में 4 विधायकों ने दुनिया से अलविदा कह दिया.

राजस्थान के चारों विधायकों का बीमारी के चलते निधन हो गया है. जिसके चलते विधानसभा की 4 सीटें खाली हो गई, जिन पर अब उपचुनाव होने है. दुनिया को अलविदा कहने वो विधायकों में 1 बीजेपी और 3 कांग्रेसी विधायक है, जिनमें से दो विधायकों का निधन कोरोना के चपेट में आने से हुआ है. 

इन विधायको का हो चुका है निधन 

राजस्थान की सहाड़ा विधानसभा से कांग्रेस के विधायक कैलाश त्रिवेदी का निधन 6 अक्टूर को हो गया था. कैलाश त्रिवेदी कोरोना के शिकार थे, उन्हें गुरूग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था. लेकिन कोरोना से लड़ते लड़ते विधायक कैलाश त्रिवेदी ने दुनिया से अलविदा कह दिया. वही राज्य की गहलोत सरकार के कैबिनेट मंत्री भंवरलाल मेघवाल ने भी गुरूग्राम के एक अस्पताल में हार्ट अटैक से निधन हो गया था. मेघवाल सुजानगढ़ विधानसभा से विधायक चुने गए थे. मेघवाल राजस्थान कांग्रेस के दिग्गज चेहरों में से एक थे, वह कांग्रेस की सरकार में कई बार मंत्री रह चुके है. इसी तरह राजसमंद से बीजेपी विधायक किरण माहेश्वरी का निधन हो गया था. किरण माहेश्वरी उदयपुर से सांसद रह चुकी है. इसके बाद वल्लभनगर विधानसभा से कांग्रेस विधायक गजेन्द्र सिंह शक्तावत का हाल ही में निधन हो गया. 

राज्य विधानसभा में विधायकों की स्थिति 

प्रदेश में 4 विधायकों के निधन के बाद विधानभा की चार सीटे खाली हो गई है, जिनपर अब उपचुनाव होना है. राजस्थान विधानसभा 200 सदस्यों वाली विधानसभा है, जिनमें से कांग्रेस के पास वर्तमान में 104 सीटें है. वही बीजेपी के पास 71 सीटे, कम्युनिस्ट पार्टी के पास 2 सीटे, 13 निर्दलीय बाकी सीटे अन्य पार्टीयों के पास है.


Leave Comments