राजस्थान में फिर होंगे चुनाव, आरक्षण पर होगा सीटों का बटवारा

राजस्थान की सियासत में भले ही कुछ ठीक ना हो, लेकिन मुख्यमंत्री गहलोत एक बार फिर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं और ये चुनाव आरक्षण की लॉटरी पर लड़े जाएंगे.

दरअसल राजस्थान में नगरीय निकाय चुनाव होने हैं. और आज जिला परिषद के 51वार्डों की लॉटरी निकाली जाएंगी. बस्सी-पावटा पंचायत समिति के 50 वार्डों का आज आरक्षण तय होगा.

जयपुर में पिछले 17 माह से बिना जिला प्रमुख-प्रधानों के पंचायतें चल रही हैं. फिर से जिला परिषद-पंचायत समितियों के चुनाव की सुगबुगाहट तेज हो गई है. जयपुर में कलेक्ट्रेट सभागार में दोपहर 3 बजे लॉटरी निकाली जाएंगी.

बता दें कोरोना से संक्रमित होने के बाद सीएम गहलोत क्वॉरंटाइन हैं. लेकिन वो फिर भी चुनावों की तैयारियां कर रहे हैं. वहीं सचिन पायलट के भी रंग-ढंग कुछ ठीक नहीं लग रहे हैं. पायलट पिछले 15 दिनों में दिल्ली के कई चक्कर लगा चुके हैं.

वहीं आज कांग्रेस की एक बड़ी बैठक होने वाली है. इस बैठक से कयास लगाए जा रहे हैं कि सचिन पायलट को हाईकमान एक बार फिर राजस्थान की कोई बड़ी जिम्मेदारी दे सकता है. 

इसी के साथ बीते रविवार को सचिन पायलट प्रदेश में लंबे दौरे पर निकले थे. और इस दौरान उन्होंने कठूमर में विधायक बाबूलाल बैरवा और राजगढ़ में विधायक जौहरीलाल मीणा से उनके घर पर जाकर मुलाकात की. हालांकि विधायकों से पायलट का मिलना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन गहलोत खेमे के विधायकों से उनके घर जाकर सचिन का मिलना सियासी गलियारे गर्म कर रहा है.

गहलोत गुट के विधायकों से सचिन का मिलना राजस्थान के सियासी गलियारों को हजम नहीं हो रहा है. वैसे राजनीति में कुछ भी बिना वजह नहीं होता है. तो अब देखना होगा कि किस बड़ी वजह से सचिन पायलट विधायक बाबूलाल बैरवा और जौहरीलाल मीणा से मिलने उनके घर पहुंचे थे.

 

 


Leave Comments