liveindia.news

पायलट ने कर दिया खेल, गहलोत को दिल्ली बुलाया!

पायलट ने कर दिया खेल, गहलोत को दिल्ली बुलाया!

राजस्थान की कांग्रेस सरकार में बीते कई महीनों से सियासी उठापठक चलती आ रही है. खास तौर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच जारी संघर्ष विराम लेने का नाम नही ले रहा है. बीते दो दिनों पहले सचिन पायलट आलाकमान के सामने अपनी बात रखने दिल्ली पहुंचे थे. सूत्रों का कहना है कि पायलट और आलाकमान के साथ हुई चर्चा में आलाकमान ने पायलट के विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल करने और अहम विभाग देने की सहमति दे दी है. आलाकमान से मुलाकात करने के बाद पायलट के राजस्थान लौटते ही आलाकमान ने अशोक गहलोत को दिल्ली बुलाया है. सूत्रों का कहना है कि अशोक गहलोत के साथ आलाकमान की बैठके बाद ही राज्य में मंत्रिमंडल पर विस्तार होगा.

सुलह कमेटी ने नहीं लिया एक्शन

पायलट और उनके समर्थकों को लेकर बनाई गई सुलह कमेटी ने अबतक कोई एक्शन नहीं लिया है. इस बात का जिक्र पायलट पहले ही कर चुके है. राजनैतिक जानकारों का मानना था कि पायलट चाहते थे कि सुलह कमेटी मामले को लेकर आलाकमान के सामने रिपोर्ट पेश करे. वही सियासी घमासान के बीच पायलट समर्थक हरीश मीणा ने अपने एक बयान में कहा है कि सबसे ज्यादा कांग्रेस की सीटें जितने वाले पूर्वी राजस्थान में विधायकों की सुनवाई नहीं हो रही है, हम सभी पायलट के साथ है. लेकिन कांग्रेस के खिलाफ नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि पूर्वी राजस्थान से सबसे ज्यादा सीटें कांग्रेस ने जीती है और वहां से सरकार में एक भी कैबिनेट मंत्री नहीं है. आलाकमान को जल्द ही इस समस्या का समाधान निकाला चाहिए.


Leave Comments