liveindia.news

शाह-नड्डा का एक्शन, अब ओवैसी की खैर नहीं

तेलंगाना के हैदराबाद में निकाय चुनाव का आगाज हो चुका है. चुनाव से पहले राजनैतिक समीकरण बनाने में जुटे AIMIM के सांसद असदुद्दीन ओवैसी की मुश्किले बढ़ गई है. क्योंकि निकाय चुनाव में प्रचार करने के लिए गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जगत प्रसाद नड्डा खुद चुनाव में आहूती देंगे. दोनों कद्दावर नेता ओवैसी के गढ़ में सेंघ लगाने की फिराक में है.

खबरों के अनुसार हैदराबाद ओवैसी का गढ़ माना जाता है, साथ ही हैदराबाद में मुस्लिम वोटर भी काफी अधिक है. लेकिन ओवैसी के किले को ढाहने के लिए शाह और नड्डा एक्शन में आ गए है, दोनों नेता सहित योगी आदित्यनाथ भी हैदराबाद में होने वाले नगर निगम चुनावों में धुंआधार प्रचार करेंगे. योगी आदित्यनाथ बीजेपी के स्टार प्रचारकों में से एक माने जाते है. तेलंगाना के ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के 150 वार्डों के लिए 1 दिसंबर को चुनाव होने वाले हैं.

ओवैसी के गढ़ पर कब्जा करने के लिए बीजेपी ने छाल बिछाना शुरू कर दिया है. बीजेपी का फोकस पूरी तरह से हैदराबाद पर है. हालांकी नगर निगम का चुनाव स्थानीय चुनाव है, लेकिन ओवैसी को पटखनी देने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय स्तर तक के नेता अपना पूरा दमखम लगाने की जुगत में है. माना तो यह भी जा रहा है की ओवैसी ने बिहार चुनाव में अपने प्रत्याशी उतारे थे और पांच सीटों पर भी कब्जा भी किया. जिसके बाद अब बंगाल चुनाव में भी अपने प्रत्याशियों को उतारने का ऐलान कर दिया है. ऐसे में बीजेपी को कुछ हद तक मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है. इसलिए ओवैसी को कमजोर करने के लिए शाह-नड्डा ने कमर कंस ली है.


Leave Comments