liveindia.news

कोरोना के नाम पर मजदूरों की जिंदगी से खिलवाड़

एक ओर देश में कोरोना वायरस के चलते लोग दहशत में है. सरकार लोगों की सुरक्षा के लिए कई इंतजाम कर रही है, तो वहीं कोरोना के नाम पर मजदूरों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है. कोरोना के चलते हजारों लोग अपने घरों की ओर पलायन कर रहे. ऐसा ही एक मामला उत्तरप्रदेश के बरेली से आया है, यहां कई राज्यों से आए लोगों को बीच सड़क पर बैठाकर उनपर कैमिकल से छिड़काव किया गया. जिसके चलते मजदूरों और उनके बच्चों की आंखों में जलन होने लगी. 

जानकारी के अनुसार एक दिन पहले बरेली में एक कोरोना पाॅजिटिव मरीज मिला था, जिसके बाद प्रशासन से कई स्थानों को सेनेटाइज किया गया. इस दौरान देशभर से आए लोगों को बरेली के सेटेलाइट बस स्टैंड पर बैठा दिया और आंखे बंद करने का कहा गया. जिसके बाद मजदूरों को फायर ब्रिगेड़ द्वारा बीच सड़क पर कैमिकल से बारिश की गई. इस दौरान कई लोगों की आंखों में सोडियम हाइपोक्लोराइड कैमिकल चला गया, जिससे लोगों को आंखे खोलने में दिक्कत होने लगी और आंखों में जलन होने लगी. 

मामले के बाद कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि राज्य सरकार से गुजारिश है की आपदा खिलाफ लड़ रहे लोगों के साथ ऐसा अमानवीय कृत नहीं करें. मजदूर पहले से ही काफी परेशानियां झेल रहे है. मजदूरों पर इस तरह से केमिकल नहीं डाले, इससे उनका बचाव नही बल्कि उनकी सेहत खराब होगी.


Leave Comments