liveindia.news

राष्ट्रपति अंकल मेरी मम्मी को माफ कर दो प्लीज...

अपने ही परिवार के सात लोगों का अपने प्रेमी के साथ हत्या करने वाली शबनम को सुप्रीम कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है. देश में ऐसा पहली बार होगा जब किसी महिला को फांसी के फंदे पर लटकाया जाएगा. शबनम की दया याचिका को राष्ट्रपति ने खारिज कर दिया है. हालांकि शबनम का अभी डेथ वारंट जारी नहीं हुआ है, जिसके चलते फांसी की तारीख तय नहीं हो पाई है. 

रामपुर की जेल में बंद शबनम के मासूम बेटे ताज ने अपनी मां को बचाने के लिए राष्ट्रपति से गुहार लगाई है. ताज ने कहा है कि राष्ट्रपति अंकल जी मेरी मम्मी को माफ कर दो प्लीज शबनम ने 13 दिसंबर 2008 को मुरादाबाद की जेल में ताज को जन्म दिया था, लेकिन जेल में उसकी परवरिश नहीं हो पाती, जिसके चलते ताज को बुलंदशहर के एक दंपती ने गोद ले लिया था. ताज दंपती को छोटी मम्मी पापा कहता है और कक्षा 6 में पढ़ता है. खबरों के अनुसार जब ताज रामपुर की जेल में अपनी मां से मिलने गया था. तब शबनम ने अपने बेटे को कई बार गले लगाया, उसका माथा चूमा और कहा की पढ़ लिखकर अच्छा इंसान बनना. शबनम ने बेटे ताज से मुलाकात के वक्त उसे टाॅफी और कुछ रूपये भी दिए थे. 

शबनम की दया याचिका खारिज

बता दे की शबनम अमरोह की रहने वाली है. शबनम को सुप्रीम कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है. शबनम ने 2008 में अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने सात परिजनों की बेहरहमी से हत्या कर दी थी. शबनम ने सातों लोगों को कुल्हाड़ी से काट डाला था. सुप्रीम कोर्ट शबनम को फांसी की सजा सुना चुका है, वही राष्ट्रपति ने भी शबनम की दया याचिका को खारिज कर दिया है. अब शबनम को फांसी पर लटकाया जाएगा. ऐसा पहली बार होगा जब किसी महिला आरोपी को आजादी के बाद पहली बार फांसी दी जाएगी.

बिहार के बक्सर से आएगा फांसी का रस्सा

शबनम को उत्तरप्रदेश की मथुरा जेल में फांसी दी जाएगी. इस जेल में 150 साल बाद किसी महिला को फांसी के फंदे पर लटकाया जाएगा. मथुरा जेल अधिक्षक का कहना है की अभी फांसी की तारीख नहीं आई है, जैसे ही शबनम का डेथ वारंट जारी होगा, वैसे ही शबनम को फांसी दे दी जाएगी. उन्होंने आगे बताया कि फांसी के लिए मेरठ के पवन जल्लाद जिन्हें निर्भया के आरोपियों को फांसी दी थी. उन्होंने दो बार फांसीघर का निरिक्षण कर लिया है. उन्होंने तख्ता और लीवर में कमी बताई है. जेल प्रशासन द्वारा उसे ठीक करवाया जा रहा है. वही बिहार के बक्सर से फांसी के लिए रस्सी मंगवाई जा रही है.

माता-पिता सहित 7 लोगों की कुल्हाड़ी से की थी हत्या

शबनम ने अपने प्रेमी सलीम के साथ उत्तरप्रदेश के अमरोहा जिले के बावनखेड़ी गांव में माता-पिता सहित सात लोगों को कुल्हाड़ी से काटकर मौत के घाट उतार दिया था. शबनम और सलीम ने 14 और 15 अप्रैल 2008 की रात को अंजाम दिया था.


Leave Comments