liveindia.news

यूपी चुनाव : मस्जिदों के बाहर कांग्रेस करेगी ये बड़ा काम

यूपी चुनाव : मस्जिदों के बाहर कांग्रेस करेगी ये बड़ा काम

उत्तरप्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर राजनैतिक दलों ने अलग-अलग वर्ग के वोटरों को साधने की कोशिशे शुरू कर दी है. कोई दलिता को साधने की कोशिशे कर रहा है तो कोई ब्रह्म्ण वोटरों को लुभाने की कोशिशे करने में जुटा हुआ है. इसी कड़ी में कांग्रेस ने मुस्लिम वोटों को वापस अपने खाते में लाने की कोशिश की है. कांग्रेस अब उत्तर प्रदेश की करीब आठ हजार मस्जिदों के बाहर संकल्प पत्र बांटने का महा अभियान चलाएगी. 

उत्तरप्रदेश अल्पसंख्यक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज आलम ने कहा है कि 6 सितंबर को कांग्रेस ने जो परिवर्तन संकल्प सम्मेलन में 16 सूत्रीय संकल्प पत्र जारी किया था, उसे अब शुक्रवार की जुमे की नमाज के बाद मस्जिदों के बादह बांटा जाएगा. यह कार्यक्रम 15 अक्टूबर तक चलाया जाएगा. कांग्रेस के इस महा अभियान को बीजेपी और सपा के वोट बैंक में सेंधमारी के तौर पर देखा जा रहा है. 

बता दें कि उत्तरप्रदेश में मुस्लिम वोट बैंक पहले कांग्रेस का हुआ करता था, लेकिन पिछले तीन दशक से कांग्रेस सत्ता से दूर है. इसके चलते मुस्लिम वोट बैंक कांग्रेस से दूर होता चला गया और समाजवादी पार्टी के खाते में चला गया. लेकिन अब कांग्रेस मुस्लिम वोट बैंक को पुनः वापस कांग्रेस में लाना चाहती है. इसके लिए कांग्रेस ने हाथ पैर मारना शुरू कर दिया है. कांग्रेस ने यूपी चुनाव की घोषणा से पहले ही अपना संकल्प पत्र जारी किया है. जिसमें मुस्लिम समुदाय के पक्ष में कई वादे किए गए है. 

कांग्रेस ने किए बड़े वादे

कांग्रेस ने अपने संकल्प पत्र में कहा है कि सपा और बीजेपी के कार्यकाल के दौरान जितने भी मुस्लिमों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए है. उनकी जांच कराई जाएगी मॉब लिंचिंग के खिलाफ कानून बनाने के लिए राष्ट्रपति को प्रस्ताव भेजा जाएगा. गोवध निवाराण अधिनियम के हाईकोट्र से खारिज मामलों में बेगुनाह लोगों को मुआवजा दिया जाए. वक्फ बोर्ड में हुई धांधली में आरोपियों को सजा दी जाए. सीएए और एनआरसी के दौरान दर्ज हुए मामले वापस होंगे. सपा सरकार में हुए दंगों की जांच और दोषियों को सजा दी जाएगी. अल्पसंख्यक इलाकों में पुलिस बल में भर्ती के लिए विशेष कैंप, मदरसा और शिक्षकों के बकाया वेतन दिया जाएगा. कांग्रेस के जमाने में स्थापित कताई मिलों को खोला जाएगा. सपा सरकार में बंद टेनरियां खोली जाएंगी. अल्पसंख्यक छात्रों को छात्रवृत्ति दी जाएगी. जैसे वादे किए है. 

बता दें कि उत्तरप्रदेश में करीब 20 फीसदी मुस्लिम वोटर हैं. जिनका 403 विधानसभा सीटों में 143 सीटों पर सीधा प्रभाव रहता है. वही 70 सीटें ऐसी है जिसपर मुस्लिम आवादी करीबद 30 प्रतिशत है, जबकि 73 सीटों पर 30 फीसदी से अधिक मुसलमान है. कांग्रेस महा अभियान के तहत करबी 25 लाख मुसलमानों के घर-घर संकल्प पत्र पहुंचाएगी.


Leave Comments