liveindia.news

इस बार का दशहरा कैंसिल, रावण कोरोना पॉजिटिव हुआ

कोरोना काल में कोई सुरक्षित नहीं. यहां तो ये हाल है कि सावरधानी हटी और दुर्घटना घटी. यानि मास्क लगाने और हाथ सैनेटाइज करने में जरा सी चूक हुई और कोरोना हावी हो गया. दशहरे के मौके पर अगर ये कहें कि इस साल का सबसे बड़ा रावण तो कोरोना ही है. तो भी शायद कुछ गलत नहीं होगा. अंतर सिर्फ ये है कि रावण नाम की बुराई कैसे खत्म होगी ये तो देर सवेर भगवान राम को पता चल ही गया था. पर कोरोना का इलाज क्या होगा साइंसटिस्ट रूपी राम अब तक ये नहीं जान पाएं हैं. विडंबना तो ये है कि अब तक ऐसा कोई विभिषण भी नहीं मिला जो कोरोवण की कमजोरी बता सकें.

अब इस कोरोवण का हौसला देखिए इसने रावण को ही अपने शिकंजे में ले लिया है. दशहरे से ठीक एक दिन पहले नौबत ये आ गई है कि कोरोवण की गिरफ्त में आए रावण को बचाने के लिए अस्पताल ले जाना पड़ रहा है. वो भी एम्बुलेंस के जरिए. न हो यकीन तो देख लीजिए. कैसे एम्बुलेंस पर रावण को ले जाया जा रहा है.

अष्टमी पर ये वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. जिसमें रावण का एक पुतला एम्बुलेंस पर बंधा हुआ और एम्बुलेंस बिलकुल उस तेजी में भाग रही है जैसे गंभीर मरीज को अस्पताल में एडमिट करना है. ये वीडियो हरियाणा के सोनीपत जिले का है. दरअसल रावण दहन के स्थान पर पुतला ले जाने का काम कर रही है ये एम्बुलेंस. वीडियो पिछले साल का बताया जा रहा है. जो इस साल कोरोना के बीच इस टैग के साथ दोबारा वायरल हो रहा है कि रावण को हुआ कोरोना.


Leave Comments