liveindia.news

PM MODI ने Bangladesh में की पत्रकारिता

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बांग्लादेश के दो दिवसीय दौरे पर हैं. कोरोना काल में PM MODI की ये पहली विदेश यात्रा है. वहीं देश के पांच राज्य में होने वाले विधानसभा चुनावों के बीच PM MODI का बांग्लादेश यात्रा पर जाना काफी अहम माना जा रहा है. हालांकि पीएम मोदी बांग्लादेश में 26 मार्च को मनाए जाने वाले स्वतंत्रता दिवस में शामिल होने के लिए पहुंचे. आज बांग्लादेश की 50वीं सालगिरह है, बांग्लादेश इस साल को मुजीब वर्ष के रूप में मना रहा है.

PM MODI ने अपने दौरे के दौरान पत्रकारिता की. PM MODI ने बांग्लादेश के मशहूर अखबार 'The Daily Star' में एक लेख लिखा. जिसमें उन्होंने बंगबंधु के नाम से प्रख्यात शेख मुजीबुर्रहमान को याद किया. उन्होंने अपने लेख में कहा है कि जब वो बंगबंधु के संषर्घ के बारे में सोचते हैं तो खुद से सवाल करते हैं कि अगर उस नायक की हत्या नहीं हुई होती तो आज हमार उप महाद्वीप कैसा नजर आता. उन्होंने आगे लिखा की बंगबंधु के हत्यारे उप महाद्वीप में शांतिभंग करना चाहते थे, वो बांग्लादेश के सपने को तोड़ना चाहते थे, लेकिन अगर आज बंगबंधु जिंदा होते तो भारत-बांग्लादेश के संबंध कुछ अलग ही होते. आज दोनों देशों में अच्छी मित्रता है और ये क्रम जारी रहेगा. PM MODI ने अपने लेख में भारत बांग्लादेश के बीच भूमि समझौते पर अपने विचार रखे. लेख के अंत में उन्होंने जय बांग्ला, जय हिन्द लिखा.

मोदी पहुंचे जशोरेश्वरी देवी माता के मंदिर

PM MODI अपनी यात्रा के दौरान बांग्लादेश के ईश्वरीपुर में स्थित विश्व प्रसिद्ध जशोरेश्वरी देवी के मंदिर पहुंचे. जशोरेश्वरी देवी का ये मंदिर काली माता का मंदिर है. ये मंदिर करीब 450 साल पुराना बताया जाता है. खास बात ये है कि ये मंदिर बांग्लादेश की राजधानी ढाका से 314 किलोमीटर और पश्चिम बंगाल की बॉर्डर से बहुत ही नजदीक है. काली मां का ये मंदिर बांग्लादेश के हिंदुओं की आस्था का प्रतीक माना जाता है. इतना ही नहीं. पश्चिम बंगाल में बसे बांग्लादेशी भी जशोरेश्वरी मंदिर में जुड़े हुए हैं.


Leave Comments