liveindia.news

पाकिस्तानी पीएम इमरान खान की भी जासूसी

पाकिस्तानी पीएम इमरान खान की भी जासूसी

देश में इजराइली स्पायवेयर पेगासस का मुद्दा गर्माया हुआ है. पेगासस एक तरफ इस बार के मानसून सत्र में छाया रहा तो गली-नुक्कड़ों तक में इसकी चर्चा चल रही है. वहीं अब जाने-माने लोगों की जासूसी कराये जाने के मामले ने पाकिस्तान में तूल पकड़ा है. अमेरिका के एक अखबार वाशिंगटन पोस्ट ने दावा किया है जासूसी कराये गये नंबरों में से एक ऐसा भी नंबर जो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का है. और इसे इमरान एक बार इस्तेमाल कर चुके हैं.

इस रिपोर्ट के छपने के बाद पाकिस्तान की सियासत में हलचल तेज हो गई है. पाकिस्तानी मीडिया डॉन न्यूज के अनुसार पाकिस्तान के आईटी मंत्री फवाद चौधरी ने भारत पर जासूसी का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि इस मुद्दे पर पूरी जानकारी सामने आते ही इसे अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर उठाया जाएगा.

पाकिस्तान के 100 नंबर लिस्ट में

वाशिंगटन पोस्ट में दावा किया गया है कि जासूसी वाली इस सर्विलांस लिस्ट में पाकिस्तान के 100 नंबर मौजूद है. साथ ही साथ भारत के 1000 नंबर भी लिस्ट में शामिल हैं. बताया जा रहा है कि इस पेगासस स्पायवेयर को स्पायवेयर सॉफ्टवेयर पेगासस इजराइली फर्म एनएसओ टेक्नोलॉजीज ने बनाया है. इस कंपनी को हैकिंग करने वाले सॉफ्टवेयर में महारत है. यह कंपनी यह भी दावा कर चुकी है कि उसके साफ्टवेयर कई देशों की सरकारे इस्तेमाल कर चुकी हैं.

विपक्ष, पत्रकार, और मंत्री तक की हुई जासूसी

दावा किया गया है कि विपक्ष के नेता राहुल गांधी, बंगाल की सीएम ममता बनर्जी से लेकर चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर तक की जासूसी कराई गई. यही नहीं केंद्रीय संस्कृति मंत्री प्रहलाद पटैल और आईटी मिनिस्टर वैष्णव का भी फोन हैक किया गया. पेगासस के क्लाइंट्स ने सिर्फ ऐसे पत्रकारों की जासूसी कराई है जो सरकार की नाकामियों को उजागर करते रहे हैं जिनसे सरकार को खतरा है. दुनिया के कुछ देशों के नाम भी दिए गए हैं, भारत में यह आंकड़ा 38 का है जहां पत्रकारों पर सरकार की नजरें हैं. 

लोकसभा 22 जुलाई तक स्थगित 

संसद में मानसून सत्र के पहले दिन जासूसी केस पर दोनों सदनों में काफी हंगामा हुआ था. विपक्ष के हंगामे के बीच लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही कई बार स्थगित करनी पड़ी. कांग्रेस ने दोनों सदनों में हंगामा किया और इस मामले की जांच संयुक्त संसदीय समिति से कराने की मांग की है. कांग्रेस कल सभी राज्यों में ’पेगासस प्रोजेक्ट’ मीडिया रिपोर्ट पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी. पार्टी 22 जुलाई को राजभवनों तक विरोध मार्च करेंगी. बता दें, लोकसभा 22 जुलाई तक स्थगित कर दी गई.

 


Leave Comments