liveindia.news

बिना किसी जरूरत के सराहा चुरा रहा है लोगों का डेटा

सराहा ऐप डाटा की चोरी के वजह से चर्चा में है. दरअसल सराहा आईओएस और एंड्रॉइड दोनों प्लेटफार्म के यूजर के फोन कॉन्टेक्ट्स की जानकारी के लिए इजाजत मांगता है और यूजर के फोन कांटेक्ट को कंपनी के सर्वर पर अपलोड करता है और ऐसा करने का कोई वाजिब कारण भी नजर नहीं आता.

सराहा एक ऐसा ऐप है जो पिछले कुछ दिनों से पूरे भारत में चर्चा का विषय बना हुआ है. सराहा एक ऐसा ऐप है जिसके जरिए यूजर अपना नाम बताए बिना ही मैसेज भेज और रिसीव कर सकता है.आईटी सिक्योरिटी कंसल्टिंग फर्म बिशप फॉक्स में काम करने वाले एक एम्प्लोय ने सबसे पहले इस पर गौर किया कि सराहा के सर्वर पर यूजर की निजी जानकारी अपलोड की जा रही है. और इसके लिए एक मॉनिटरिंग सॉफ्टवेयर BURP Suite का इस्तेमाल किया जा रहा है.

स्टोर हो जाता हैं ईमेल और फोन के कॉन्टेक्ट 

रविवार को दिए एक बयान के मुताबिक, जैसे ही आप ऐप्लिकेशन में लॉगइन करते हैं, यह आपके ईमेल और फोन कॉन्टेक्ट को अपने एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम पर स्टोर कर लेता है. लेकिन ऐप में ऐसा कोई फीचर नहीं है जहां इन कॉन्टेक्ट की जरूरत पड़े और ना ही ऐसा कोई सर्च फीचर है जहां आप कॉन्टेक्ट नंबर के जरिए अपने दोस्त को तलाश सकें.

इस पूरे मामले पर सफाई देते हुए सराहा के संस्थापक ने कहा कि कॉन्टेक्ट लिस्ट की जानकारी आने वाले एक फीचर 'find your friends' के लिए अपलोड की गयी है. अभी तक इस फीचर को रिलीज नहीं किया गया है. ट्वीट में तौफीक ने लिखा कि डेटा रिक्वेस्ट अगले अपडेट में हटा ली जाएगी.


Leave Comments