liveindia.news

मोदी मंत्रिमंडल : इन नेताओं की लग गयी लॉटरी

लाइव इंडिया न्यूज़। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने मंत्रिपरिषद का विस्तार किया. नए मंत्रिमंडल में चार राज्य मंत्रियों को पदोन्नत कर कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया और नौ नए चेहरों को राज्य मंत्री बनाया गया. ये चार मंत्री पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेद्र प्रधान, विद्युत, कोयला, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा व खनन मंत्री पीयूष गोयल, वाणिज्य व उद्योग मंत्री निर्मला सीतारमण और अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी हैं.

धर्मेंद्र प्रधान : इनका कद भी काफी बढ़ाया गया है. इन्हें राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) से कैबिनेट मंत्री बनाया गया हैअब पेट्रोलियम के अलावा स्किल डेवलपमेंट मंत्रालय की भी जिम्मेदारी दी गई है.

मुख्तार अब्बास नकवी: नकवी का कद बढ़ा है, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ है. नकवी को राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) से कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. वो अब अल्पसंख्यक विकास मंत्रालय के कैबिनेट मंत्री होंगेलेकिन संसदीय कार्य मंत्री की जिम्मेदारी छीन ली गई है.

सुरेश प्रभु: इस विस्तार में जिस मंत्री का कद सबसे छोटा हुआ, उनमें सुरेश प्रभु अव्वल कहे जा सकते हैं. उनसे रेलवे जैसा बड़ा मंत्रालय छीन लिया गया, बतौर रेल मंत्री उनकी काफी किरकिरी भी हुई. हालांकि, अब भी उन्हें एक बड़ा मंत्रालय दिया गया है.उन्हें वाणिजय मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

उमा भारती: बीजेपी की फायरब्रांड नेता कही जाने वाली उमा भारती का भी कद बहुत छोटा कर दिया गया है.दरअसल, वो किसी तरह से कैबिनेट में बनी रहने में कामयाब रह गई. उनके इस्तीफे की अटकलें थी उनसे गंगा जल संसाधन मंत्रालय छीन लिया गया है.अब उन्हें पेयजल और सेनिटेशन जैसे काफी छोटे मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है.


Leave Comments