liveindia.news

मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में अब तक का सबसे बड़ा फेरबदल 

2019 के चुनाव में डेढ़ साल बांकी है और मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में अब तक का सबसे बड़ा फेरबदल होने वाला है. 2 सितंबर की शाम को मोदी मंत्रीमंडल में फेरबदल कर सकते हैं. अनिल माधव दबे के नहीं रहने और वेंकैया नायडू के उप राष्ट्रपति बनने के बाद से मोदी मंत्रीमंडल के बहुत से पद खाली हैं.

सूत्रों से पता चला है कि राजीव प्रताप रूडी, कलराज मिश्र, महेंद्र नाथ पांडेय ने इस्तीफे दे दिए हैं. वहीं कई मंत्रियों ने इस्तीफे की पेशकश की है. लेकिन अब सभी की नजर है कि टीम मोदी में किसकी एंट्री होगी, कहा जा रहा है कि इस बार के फेरबदल में काफी नए चेहरे आ सकते हैं. इसी के साथ मध्य प्रदेश के राकेश सिंह और प्रहलाद पटेल को भी बड़ी जिम्मेदारियां दी जा सकती है.

प्रधानमंत्री के ऑडिट के बाद फैसला

प्रधानमंत्री कार्यालय ने सभी मंत्रियों के कामकाज का ऑडिट किया था, सभी मंत्रियों का रिपोर्ट कार्ड तैयार किया गया था. इस रिपोर्ट में मंत्रालय से जुड़ी योजनाओं को लागू करने से लेकर पार्टी की जिम्मेदारियों का लेखा जोखा है. ऑडिट के आधार पर ही कैबिनेट फेरबदल का फैसला लिया जा रहा है.

किनकी छुट्टी तय

सत्रों का मानना है कि जलमंत्री उमा भारती, राजीव प्रताप रूडी, संजीव बालियान, फग्गन सिंह कुलस्ते की छुट्टी की जा रही है. वहीं यूपी से वरिष्ठ मंत्री कलराज मिश्र का भी हटना तय है. कलराज मिश्र को किसी राज्य का गवर्नर बनाया जा सकता है.

मंत्रीमंडल फेरबदल में पदोन्नती

मंत्रिमंडल में कुछ मंत्री ऐसे हैं जिनके काम से पीएम मोदी काफी खुश हैं. और इनका प्रमोशन भी हो सकता है. इन मंत्रियों में पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान और प्रकाश जावड़ेकर शामिल हैं. फिलहाल जावड़ेकर के पास मानव संसाधन मंत्रालय, धर्मेंद्र प्रधान के पास पेट्रोलियम मंत्रालय और पीयूष गोयल के पास ऊर्जा मंत्रालय का जिम्मा है.

किन मंत्रालयों में सबसे बड़ा बदलाव

पिछले काफी समय से देश के पास कोई स्थाई रक्षामंत्री नहीं है. उम्मीद जताई जा रही है कि इस फेरबदल में नया रक्षामंत्री मिलेगा, इसी के साथ ही रेलमंत्री सुरेश प्रभु से रेल मंत्रालय छीना जा सकता है. परिवहन मंत्री नितिन गड़करी को रेलमंत्रालय दिया जा सकता है, रेलवे को परिवहन मंत्रालय के साथ जोड़ा भी जा सकता है.

सुरेश प्रभु हो सकते हैं पर्यावरण मंत्री

हाल ही के दिनों में लगातार बढ़ते रेल हादसों से विपक्ष के निशाने पर आए रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने सभी रेल हादसों की जिम्मेदारी अपने ऊपर लेते हुए पीएम मोदी के सामने इस्तीफे की पेशकश की थी. अब खबर है कि सुरेश प्रभु को पर्यावरण मंत्रालय सौंपा जा सकता है.

देश को मिलेंगे 5 नए राज्यपाल

केंद्र सरकार जल्द ही नए राज्यपाल के नामों का भी ऐलान कर सकती है. कलराज मिश्र को राज्यपाल बनाया जा सकता है. कहा जा रहा है कि पीएम मोदी ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ इस मुद्दे पर बैठक भी की थी.


Leave Comments