liveindia.news

सोनिया-राहुल-प्रियंका खुद को समझ रहे तीस मार खां

सोनिया-राहुल-प्रियंका खुद को समझ रहे तीस मार खां

सोनिया-राहुल-प्रियंका खुद को समझ रहे तीस मार खां

पंजाब कांग्रेस में उठे सियासी बवाल की आंच अब गांधी परिवार पर उठने लगी है. पहले तो कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने पार्टी नेतृत्व पर कई सवालिया निशान खड़े किए थे और अब कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह ने पार्टी की मौजूदा हालत के लिए गांधी परिवार को जिम्मेदार ठहराया है. नटवर सिंह ने कहा है कि गांधी परिवार को अपनी गलती मान लेनी चाहिए, तीनों को अमरिंदर सिंह से बात करनी चाहिए. लेकिन सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी खुद को तीस मार खां समझ रहे है.

ये भी पढ़े - अमरिंदर सिंह ने छोड़ी कांग्रेस!, दिया बड़ा बयान
ये भी पढ़े - शाह के घर पहुंचे अमरिंदर सिंह, BJP में होगे शामिल!

नटवर सिंह ने आगे कहा है कि सोनिया राहुल और प्रियंका के आलावा पार्टी में कोई नेता ही नहीं दिखाई देता, जो इनके खिलाफ आवाज उठाए. कोई भी नेता कमेटी की बैठक में भी आवाज नहीं उठा पाता. गुलाम नबी और कपिल सिब्बल बोल गए, तो गांधी परिवार पर इनका भी कोई असर नहीं हुआ. मुझे समझ नहीं आता की आप किसी से नहीं मिल रहे है और साहबजादे केरल गए है. वही साहबजादी यूपी गई है. नटवर सिंह ने कहा है कि कांग्रेस को ऐसे समय में अमरिंदर सिंह से बात करना चाहिए और कहना चाहिए की हमसे गलती हो गई है. लेकिन गांधी परिवार का कोई सलाहकार नहीं है. एंटनी थे लेकिन वे बीमारी है. मनमोहन सिंह भी चुप बैठे है. कोई इनकों सलाह देने वाला नहीं है. तीनों को ये लगता है कि हम तीस मार खां है. 

ये भी पढ़े - अमरिंदर सिंह ने छोड़ी कांग्रेस!, दिया बड़ा बयान
ये भी पढ़े - शाह के घर पहुंचे अमरिंदर सिंह, BJP में होगे शामिल!

कांग्रेस पार्टी का कोई अध्यक्ष नहीं - सिब्बल

इससे पहले बीते बुधवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कांग्रेस नेतृत्व पर हमला बोला था. सिब्बल ने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि दुर्भाग्य से कांग्रेस के पास कोई अध्यक्ष नहीं है, पार्टी के फैसले कौन ले रहा है, पता नहीं. नेता पार्टी छोड़कर जा रहे हैं. सिब्बल ने पार्टी से वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाने की मांग की है. सिब्बल ने कहा है कि यह मैं नहीं बल्कि उनकी ओर से बोल रहा हूं, जिन्होंने पिछले साल अगस्त में पत्र लिखा था. कपिल सिब्बल ने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि हमे कब तक इंतजार करना पढ़ेगा. ‘इंतजार की भी एक हद होती है. में एक मजबूत संगठनात्मक ढांचा चाहिए है. बैठक होनी चाहिए, पंजाब के मसले पर चर्चा होनी चाहिए. हम किसी के खिलाफ नहीं है. हम पार्टी के साथ हैं, लेकिन हमारी पार्टी का कोई चुना हुआ अध्यक्ष नहीं है.

ये भी पढ़े - अमरिंदर सिंह ने छोड़ी कांग्रेस!, दिया बड़ा बयान
ये भी पढ़े - शाह के घर पहुंचे अमरिंदर सिंह, BJP में होगे शामिल!

कपिल सिब्बल ने आगे कहा था कि देश इस वक़्त कई तरह की चुनौतियों का सामना कर रहा है. चीन हमारी सीमा में आ रहा है, हमें लड़ने की जरूरत है हमारे नेता हमें छोड़ कर जा रहे हैं. जितिन प्रसाद को मंत्रालय मिल गया. गोवा के पूर्व सीएम टीएमसी में चले गए. कई राज्यों में कई नेताओं ने पार्टी छोड़ दी. सवाल ये है कि ये लोग क्यों जा रहे हैं? क्या हमसे कोई गलती हुई है. सुष्मिता देव, फेलेरो, जितिन प्रसाद, सिंधिया, ललितेश त्रिपाठी चले गए. 


Leave Comments