liveindia.news

गडकरी ने मोदी को इशारों में कह डाली पद छोड़ने की बात!

गडकरी ने मोदी को इशारों में कह डाली पद छोड़ने की बात!

भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और मोदी सरकार में केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी ने अपनी ही पार्टी पर निशाना साधा है. नितिन गडकरी ने अपने राजस्थान के दौरे के दौरान विधानसभा को संबोधित करने पहंचे थे. जहां उन्हाेंने कहा कि इस समय हर कोई दुखी है, जो मंत्री नही बन पाया वो दुखी है , जिसे सीएम पद से हटा दिया वह दुखी तो कोई मुख्यमंत्री नही बन पाया वो दुखी और तो और मुख्यमंत्री इसलिए दुखी है की कब उनका पद चला जाए. 

गडकरी यही नहीं रूके उन्होंने आगे कहा की जो नेता राज्यों में काम के नही थे, उन्हें दिल्ली भेज दिया. दिल्ली में जो नेता काम के नही थे, उन्हें राज्यपाल बना दिया. तो कुछ को एंबेसडर बना दिया. गडकरी ने पेगासस जासूसी कांड को लेकर पीएम मोदी का नाम नहीं लेते हुए इशारों ही इशारों में पद छोड़ने की बात कही.

गड़करी ने कहा की अमेरिका में वाटरगेट कांड के दौरान राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था. गडकरी ने आगे कहा की में कभी अपने भविष्य की चिंता नहीं करता हूं, जो अपने भविष्य की चिंता करता है वह कभी खुश नहीं रह पाता है. पेगासस कांड की आड़ में क्या गडकरी मोदी को पद छोड़ने की बात कह रहे है? राजनैतिक गलियारों में यह चर्चा का विषय बना हुआ है. 

बता दें कि पीएम मोदी और अमित शाह के करीबी माने जाने वाले नितिन गडकरी ऐसे समय में बयान आया है, जब गुजरात में वियज रूपाणी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया और भूपेन्द्र पटेल को सीएम बनाया गया. गडकरी के बयान से माना जा रहा है कि गडकरी ने मोदी-शाह के नेतृत्व से दुखी है? शायद इसीलिए उन्होंने दोनाें पर तंस कसा है.


Leave Comments