liveindia.news

कर्नाटक में फिर मुख्यमंत्री बनेंगे कुमारस्वामी?

राजनीति में दोस्ती, दुश्मनी में कब तब्दील हो जाए, इसका कोई अंदाजा भी नहीं लगा सकता है. कर्नाटक में एक समय था जब कांग्रेस और जेडीएस एक दूसरे का हाथ थामकर चलते थे. लेकिन आज वो वक्त है, जब हाथ पकड़ना तो दूर बल्कि नेता एक दूसरे पर ही तीखे तीर छोड़ रहे है. जब से सूबे में बीजेपी ने कुमार स्वामी की सरकार गिराई है, तब से वो कांग्रेस पर भी बरस रहे है और अब बेंगलूरू के राज राजेश्वरी नगर विधानसभा उपचुनाव से पहले भी उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों ले लिया. उन्होंने कहा की कांग्रेस पार्टी का गेम प्लान इस बार काम नहीं करेगा. दो बार यहां से चुनाव जीतने के बावजूद जब वे निर्वाचन क्षेत्र के लिए कुछ नहीं कर पाए, तो वे मतदाताओं का सामना कैसे करेंगे.

ये कोई पहला मौका नहीं है जब स्वामी विपक्षी दल पर बरसे हो. जब भी सूबे में कोई घटना घटती है तो जेडीएस कांग्रेेस को ही कसूरबार ठहराती है. उन्होंने कहा की कांग्रेस के लोग इस राज्य के नागरिकों के रक्षक नहीं है, अब लोग उस मुद्दे के बारे में सोचते है. कांग्रेस बेंगलूरू शहर के लिए सुरक्षित नहीं है. मुझे लगता है की लोग इस चुनाव में उचित निर्णय लेंगे. अब जेडीएस के तेवर को देखकर ही लगता की कांग्रेस के साथ को कभी पसंद नहीं करेंगे. लेकिन कुमार स्वामी बीजेपी के साथ जरूर आ सकते है. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि स्वामी बीजेपी पर जरा भी निशाना नहीं साध रहे है, वो सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस को जिम्मेदार ठहरा रहे है. अब जब नेताओं के बदलते सुर नए समीकरणों के संकेत दे ही रहे है, तो खैर ये आने वाला वक्त ही बताएगा की कौन किसका साथ देगा. राजनैतिक गलियारों में चर्चा है की कुमार स्वामी बीजेपी में शामिल होकर फिर से कर्नाटक के मुख्यमंत्री बनेंगे.


Leave Comments