liveindia.news

गोल्ड तस्कर समीर मर्चेंट को डीआरआई ने मुम्बई में किया गिरफ्तार

डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलीजेंस (डीआरआई) इंदौर के रीजनल ऑफिस ने गोल्ड तस्कर समीर मर्चेंट उर्फ अफजल बटाटावाला को गिरफ्तार किया है. मर्चेंट यूएई से मुंबई होकर इंदौर व अन्य शहरों में आने वाले विमानों में सोना छिपाकर उसकी तस्करी करता था अभी उसे आर्थर रोड मुंबई की जेल में रखा गया है.

मर्चेंट का साथी मुबारक हुसैन 12 मई को इंदौर एयरपोर्ट पर तस्करी कर लाए चार किलो सोने के साथ पकड़ाया था. तभी से अधिकारी रैकेट की मुख्य लिंक निकालने में जुटे थे. पांच दिन पहले मर्चेंट के मुंबई में होने की सूचना मिली और टीम ने नाकेबंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया. अब उससे पूरे रैकेट से जुड़े लोगों की जानकारी ली जा रही है. जांच टीम में डीआरआई इंदौर के असिस्टेंट डायरेक्टर सांई हटंगणि, सीनियर इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर कुशल चौरे, इन्वेस्टिगेशन ऑफिसर नवीन सोनी व हरि गुर्जर शामिल हैं.

इंटरनेशनल फ्लाइट में ही छिपा देते थे, जब वह घरेलू फ्लाइट बनती तो निकाल लेते थे सोना
तस्करी के लिए इन्होंने नया तरीका निकाला था. यूएई से विमान में मुंबई लाया जाता था, लेकिन सोना विमान में ही छिपाकर रखा रहने देते थे. जब यह इंटरनेशनल फ्लाइट के इंदौर या छोटे शहरों में घरेलू फ्लाइट बनने का शेड्यूल आता तो उनका एक साथी विमान में सवार होता था और सोना निकाल लेता था. फिर यह सोना सड़क मार्ग से जिस शहर में डिलेवरी होना होती थी, वहां पहुंचाया जाता था.
गुजरात में दस साल एनडीपीएस केस में सजा काट चुका है मर्चेंट जांच टीम को पता चला है कि मर्चेंट गुजरात में दस साल एनडीपीएस केस में जेल में रह चुका. उसके खिलाफ फॉरेन करेंसी को इधर से उधर करने का प्रकरण भी रजिस्टर्ड है.


Leave Comments