liveindia.news

Sachin Tendulkar के लिए बेहद खास है 27 March, जानिए क्या है कनेक्शन 27

27 मार्च यानि आज मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने एक ट्वीट किया और उस ट्वीट को करने के कुछ मिनटों बाद ही वो ट्विटर पर ट्रेंड करने लगे. पूरे देश के लोगों के हाथ सचिन तेंदुलकर के लिए दुआएं मांग रहे हैं. अक्सर ऐसा तब होता था, जब सचिन क्रिकेट के मैदान में होते थे, जब वो बैट लेकर पिच की तरफ बढ़ते थे, तब पूरा देश उनके लिए दुआएं मांगता था, वो दुआएं होती थीं कि सचिन आउट ना हो, सचिन की मैच में सेंचुरी हो और ऐसी तमाम दुआएं सचिन के लिए मांगी गईं. 

लेकिन आज ना सचिन मैदान में हैं और ना ही उनके हाथ में बल्ला, दरअसल बात ये है कि मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट करके दी. जिसके बाद से लोग फिर उनके लिए दुआएं मांग रहे हैं कि वो जल्द ठीक हो जाएं. लेकिन उनकी रिपोर्ट आज यानि 27 मार्च को पॉजिटिव आई.

सचिन के लिए बहुत खास है 27 मार्च

सचिन की जिंदगी में ये तारीख बहुत मायने रखती होगी, क्योंकि आज के दिन 27 साल पहले 1994 में भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजरुद्दीन ने एक ऐसा फैसला लिया था, जिसने सचिन को क्रिकेट जगत का भगवान बना दिया.

27 मार्च 1994 को ऑकलैंड में भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरा वनडे मैच खेलना था. मैच के कुछ घंटे पहले पता चला कि ओपनर बैट्समैन नवजोत सिंह सिद्धू की गर्दन की नस खिंची हुई है और वो खेलने की स्थिति में नहीं हैं. जिसके बाद टीम के कप्तान अजहर ने सचिन से ऑपनिंग करवाई और टीम इंडिया को एक शानदार और बेहतरीन ऑपनर मिला. सचिन ने इस पारी में 49 गेंदों में 82 रन बनाए.

सचिन तेंदुलकर एक ऐसा नाम है, जिसे देश के हर घर की 3 से 4 पीढ़ियों ने क्रिकेट के मैदान में खेलते देखा है.


Leave Comments